राजनीति से रिटायर होकर भी जनसेवा करूंगा: मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामांग

0
72

नई दिल्ली: “मानव उत्थान सेवा समिति सिक्किम” द्वारा “आध्यात्मिक युवा ग्रीष्मकालीन शिविर” के समापन समारोह कार्यक्रम में सिक्किम के सीएम मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामांग शामिल हुए। इस कार्यक्रम में अतंर्राष्ट्रीय नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी दिवस के अवसर पर शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का विषय “स्वास्थ्य और मानवीय संकटों में नशीली दवाओं की चुनौतियों का समाधान” था।

मानव उत्थान सेवा समिति एक सामाजिक-आध्यात्मिक और धर्मार्थ संगठन है जो मानव जाति की चेतना को जगाने के उद्देश्य से वैश्विक स्तर पर काम कर रहा है। मुख्यमंत्री को उनके सराहनीय शासन के लिए समिति ने उन्हे सम्मानित किया।  साथ ही उन्हे मानव उत्थान सेवा समिति, सिक्किम यूथ विंग द्वारा एक मोमेंटो भी दिया गया।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के बारे में बात करते हुए सभी नागरिकों से मादक द्रव्यों के सेवन के खिलाफ लड़ने और हमारे समाज को नशीले पदार्थों से मुक्त रखने का संकल्प लेने का अनुरोध किया। उन्होंने युवाओं पर जोर देते हुए कहा कि युवा देश की ऊर्जा, शक्ति और ताकत हैं। अगर युवा सही दिशा में हैं तो हमारी संस्कृति और परंपरा के संरक्षण के साथ-साथ हमारा राष्ट्र भी समृद्ध होगा।

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि 10 साल के राजनीतिक कार्यकाल के पूरे होने के बाद अगर जनता का आदेश रहा तो खुशी-खुशी राजनीति से रिटायर होकर सामाजिक कार्यों की ओर कदम बढ़ाएंगें। उन्होंने हमेशा नागरिकों की सेवा की है और हमेशा करते रहेंगे। उन्होंने मानव उत्थान सेवा समिति को धन्यवाद दिया और नंदूगांव के ध्यान केंद्र की आगामी परियोजनाओं पर चर्चा की और कहा कि यह परियोजना 2023 तक पूरी हो जाएगी।

साथ ही सिक्किम गरीब कल्याण प्रकोष्ठ के कामकाज, निम्न आय स्तर के रोगियों की चिकित्सा सहायता और वित्तीय सहायता पर भी प्रकाश डाला। उन्होनें बताया कि जिले में एम्बुलेंस सेवाएं भी प्रदान की गई हैं, और इससे कोविड लॉकडाउन के दौरान बहुत सहायता मिली है। इसके अलावा जिन वरिष्ठ नागरिकों को उनके परिवार ने छोड़ दिया है उनकी देखभाल के लिए 9 कार्यवाहकों को भी प्रशिक्षित कर, नियुक्त किया गया है।

इसके अलावा उन्होंने यह भी घोषणा की कि दक्षिण सिक्किम में काफेक्टर लेंड को नई तकनीक के साथ कैंसर अस्पताल के निर्माण के लिए प्रस्तावित किया गया है, जो कि अपने आप में सबसे उत्तम होगा। उन्होंने “अग्निपथ योजना” के बारे में भी अपने विचार साझा किए। इस कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष, राज्य विधान सभा, मंत्री, विधायक, अन्य गणमान्य व्यक्ति, सरकारी अधिकारी, समिति सदस्य समेत आम जनता भी शामिल हुई।

Leave a Reply