दो दिन पहले भागीदारी मांग रहे थे, और आज अखिलेश से जा मिले पूर्व सांसद शाहिद अख़लाक

0
349

कहते हैं कि सियासत में न तो दोस्ती हमेशा के लिये होती है और न ही दुश्मनी। यह बात एक बार फिर सही साबित हो गई है। दरअस्ल मेरठ के पूर्व सांसद एंव पूर्व मेयर हाजी शाहिद अख़लाक ने आज लखनऊ में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव से मुलाक़ात की है। यह जानकारी खुद शाहिद अख़लाक ने सोशल मीडिया के माध्यम से दी है।

शाहिद अख़लाक ने अखिलेश यादव के साथ अपनी तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि “आदाब दोस्तो आज दिनांक 19-10-2021 को लखनऊ में अखिलेश यादव से सियासी गुफ़्तगू हुईं काफ़ी अच्छी मुलाक़ात रही आगे के सियासी फ़ैसले लेने के लिए अपने साथियों और समर्थकों से जल्द ही मशवरा करूँगा आप लोगों से दुआ की दरखास्त।”

दो दिन पहले मांगी थी भागीदारी

पूर्व सांसद शाहिद अखलाक ने 16 अक्टूबर को अपने अधिकारिक फेसबुक पेज पर पोस्ट की थी, इस पोस्ट में उन्होंने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलेमीन अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी और अपनी तस्वीर पोस्ट की थी, जिसमें उन्होंने मुसलमानों को सियासत में भागीदारी की मांग करते हुए सेक्युलर पार्टियों पर निशाना साधा था। शाहिद अख़लाक ने लिखा था कि, अगर मुसलमानो की पार्टी की भी (सत्ता) में भागीदारी हो तो किया हर्ज है या सेकुलर पार्टियों को सिर्फ़ मुसलमानो का वोट  चाहिये मुसलमान नेता नहीं चाहिए आज़ाम खान को जेल में डाल रक्खा है सेक्युलर और मुसलमानो का वोट लेने वाली पार्टीयां  चुप क्यों  हैं? क्या ये इनाम है?

उन्होंने मांग की थी कि मुसलमानो को वोट के बदले और इन पार्टीयों को गारंटी देनी पड़ेगी कि मुज्जफरनगर जैसे दंगे दोबारा नहीं होंगे और मुसलमानो को आरक्षण की बात किंयो नहीं करते ये सेक्युलर नेता इस लिये नारे हम लंगाए दरियाँ हम बिछायें वोट हम दे राज तुम करो इस लिए अब वक़्त आ गया है कि मुसलमानो को भागीदारी की माँग करनी चाहिए वरना यूँ ही पिटेंगे।