यूपी चुनाव: राहुल गांधी बोले “नफ़रत को हराने का सही मौक़ा है।”

ज़रूर पढ़े

नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि देश में साजिश के तहत नफरत फैलाने का काम हो रहा है और आने वाले विधानसभा चुनाव में इस नफरत को हराने का सही मौका है।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया “नफ़रत को हराने का सही मौक़ा है।” इसके साथ ही उन्होंने चुनाव 2022 को हैस्टैग किया है। कांग्रेस लगातार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर नफरत फैलाने का आरोप लगाकर उस पर हमला कर रही है। हाल में कांग्रेस ने टेक फॉग एप को लेकर भी सरकार पर जोरदार हमला किया और कहा कि इस एप के माध्यम से देश में नफरत फैलाने का काम किया जा रहा है।


पार्टी ने भी अपने आधिकारिक हैंडल पर ट्वीट कर कहा “भाजपाई एजेंडा देश के सौहार्द में नफरत का जहर घोल रहा है, भाजपा अपने राजनीतिक लाभ के लिए देश को नफरत और हिंसा में झोंक रही है। भाजपा को देशवासियों के सवालों के जवाब देने होंगे। भाजपाई सोशल मीडिया टेक फॉग पर निर्भर है और इस खतरनाक एप के जरिए भाजपा समाज में नफरत का जहर घोल रही है। टेक फॉग एप नहीं बल्कि भाजपा की प्रोपेगेंडा मशीनरी का हथियार है, जो देश के लिए हानिकारक है।”

हिंदू धर्म को खतरे में बताकर कुछ लोग कर रहे हैं राजनीति – दिग्विजय

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने आज कहा कि कुछ लोग हिंदू धर्म को खतरे में बताकर राजनैतिक रोटियां सेंक रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने युवक कांग्रेस की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम ‘सिंहनाद’ को संबोधित किया। उन्होंने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि हिंदू धर्म न तो कभी खतरे में था और न ही वर्तमान में है। हमारी विचारधारा में सबको समाहित करने की बात कही जाती है।

राज्यसभा सांसद ने कहा कि लेकिन कुछ लोग हिंदू धर्म को खतरे में बताकर राजनैतिक रोटियां सेंक रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को भी निशाने पर लिया और कहा कि हमारी वैचारिक लड़ाई ऐसे संगठन से है, जो ऊपर से दिखायी नहीं देता है। उन्होंने कहा कि संघ का पंजीयन भी नहीं है और यह गुपचुप तरीके से काम करता है। दिग्विजय सिंह ने इस अवसर पर केंद्र और राज्य में सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर भी अनेक आरोप लगाए।

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X