टिकैत बोले “भिखमंगा और व्यापारी, इनको देश से प्रेम नहीं होता।”

ज़रूर पढ़े

दिल्ली की सीमा पर पिछले 11 महीनों से किसान संगठन कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। इसको लेकर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि अगर सरकार हठधर्मी है तो किसान भी अपनी मांगों से पीछे नहीं हटेगा। उन्होंने कहा है कि सरकार के बातचीत का हम किसान इंतजार कर रहे हैं। सरकार बात करे और हम भी अपने घर जाएं।

इस बीच राकेश टिकैत ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए केंद्र पर जमकर निशाना साधा। दरअसल टी-20 विश्वकप में भारत पर पाकिस्तान की जीत के बाद खबरें आईं कि देश के कुछ हिस्सों में पटाखे जलाए गए। इसपर जब किसान नेता से सवाल किया गया तो उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, यही लोग पटाखे जलवाते हैं।

राकेश टिकैत ने कहा कि ये लोग बहुत जालसाज और बहुरूपिये हैं। इनको सिर्फ वोट चाहिए। उन्होंने कहा कि भिखमंगा और व्यापारी, इनको देश से प्रेम नहीं होता। एक चौराहे से दूसरे चौराहे पर भिख मांग लेंगे। ऐसे ही व्यापारी हैं, जहां लाभ मिलेगा, वहां व्यापार कर लेंगे। उनको देश से लगाव नहीं होता। राकेश टिकैत ने कहा कि पुराने लोग कहकर गए हैं इन लोगों से बचकर रहना।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों ने रास्ते से टेंट हटाया। इसको लेकर राकेश टिकैत ने अपने मजाकिया अंदाज में कहा था कि दीपावली आ रही है, उसके पर्दे बदलने हैं। उन्होंने रास्ता रोकने पर कहा था कि रास्ता हमने नहीं दिल्ली पुलिस ने रोका हुआ है। हमने टेंट इसलिए हटाएं कि पुलिस की बैरिकेडिंग दिख सके। हम लोगों को दिखाना चाहते हैं कि हमने सड़क जाम नहीं किया है।

बता दें कि किसान संगठनों को दिल्ली की सीमा पर आंदोलन करते हुए लगभग एक साल हो चुके हैं। ऐसे में उनकी तरफ से लगातार मांग की जा रही है कि केंद्र सरकार उनकी मांगों को मान ले और वो अपना आंदोलन खत्म कर देंगे। किसान सरकार से तीनों कानून वापस लेने, एमएसपी गांरटी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं।

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X