नरम नहीं पड़ रहे UAE की राजकुमारी के तेवर, कहा ‘तकलीफ है कि इस्लामोफोबिया को बढ़ावा देने वाले लोग UAE में रहते हैं।’

ज़रूर पढ़े

नयी दिल्लीः यूएई की प्रिंसेज शेख हेंड फैसल अस कस्सेमी के इस्लाफोबिया के ख़िलाफ अपनाए गए तेवर नरम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। इस राजकुमारी ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर भारतीय में इस्लामोफोबिया होने का आरोप लगाया है। राजकुमार ने ट्वीट किया कि मुझे मेरे माता पिता और दादी ने पाला है जिसमें भारत के हिंदू और फिलिपिंस के ईसाई उनकी मदद करते थे लेकिन मुझे धक्का लगता है जब मैं भारत में इस्लामोफोबिया की स्थिति को देखती हूं। मुझे तकलीफ देने के लिए इतना काफी है इसी इस्लामोफोबिया को बढ़ावा देने वाले लोग अमीरात में रहते हैं।

एक और ट्वीट में शेख हेंड फैसल अस कस्सेमी ने कहा कि मैं दावा नहीं करती कि मैं भारत या किसी भी देश की सियासत को समझती हूं। मैं एक राजनेता नहीं लेकिन मुझ में इतनी सामान्य समझ तो है 10  लाख लोग (भारतीय) भारत की बजाए अमीरात में रहना क्यों पसंद करते हैं। यह अमीरात का अपमान है कि एक नफरती को यहां बुलाने के बावजूद यह लोग (अमीरात में रह रहे भारतीय) आराम से हैं।

शेख हेंड फैसल अस कस्सेमी  ने एक बार फिर विवादास्पद एंकर सुधीर चौधरी पर निशाना साधा है। उन्होंने सुधीर चौधरी का वह वीडियो ट्वीट किया है जिसमें वे रंगदारी मांगते हुए साफ नज़र आ रहे थे। शेख हेंड फैसल अस कस्सेमी ने इस वीडियो को पोस्ट करते हुए लिखा कि यह वीडियो देखिए कि किस तरह एक अपराधी रिश्वत की मांग कर रहा है और बाद में तिहाड़ जेल चला गया और उसके बाद उसे ‘अकाउंटेंटो’ ने यहां बुला लिया ताकि वह (सुधीर चौधरी) अच्छाई पर बात करे।

जानकारी के लिये बता दें कि हाल ही में दुबई स्थित एक भारतीय संस्थान ने सुधीर चौधरी को एक कार्यक्रम के लिये आमंत्रित किया था। इसके बाद दुबई की राजकुमारी शेख हेंड फैसल अस कस्सेमी ने अपना विरोध दर्ज कराया, उन्होंने सुधीर चौधरी को नफरत फैलाने वाला इस्लामोफोबिक आतंकी बताया। जिसके बाद आयजकों ने सुधीर चौधरी को वक्ताओं को लिस्ट से हटा दिया।

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X