बेहट से उमर अली और सहारनपुर देहात से आशु मलिक की उम्मीदवारी पर सपा की हरी झंडी

0
166

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में टिकट वितरण को लेकर मचे घमासान के बीच समाजवादी पार्टी (सपा) की ओर से सहारनपुर जिले की बेहट सीट पर विधान परिषद के पूर्व सदस्य (एमएलसी) उमर अली और सहारनपुर देहात सीट पर पूर्व एमएलसी आशू मलिक को चुनाव लड़ने का इशारा मिल गया है।

सूत्रों के अनुसार हाल ही में कांग्रेस छोड़ कर सपा की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ा रहे इमरान मसूद भी बेहट सीट से सपा का टिकट पाने के लिये जोर आजमाइश कर रहे थे। सूत्रों के मुताबिक सपा नेतृत्व ने अली और मलिक के टिकट की औपचारिक घोषणा करने के बजाय रविवार को उन्हें पार्टी का सिंबल देकर उनकी उम्मीदवारी को हरी झंडी दे दी है। उमर अली, दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी के दामाद है।

इस बीच लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कोविड प्रोटोकॉल का हवाला देते हुये रविवार को कहा कि पार्टी अब उम्मीदवारों की सूची जारी करने के बजाय उम्मीदवारों को सीधे नामांकन के फार्म ए और बी भेज देगी। इस बीच अखिलेश से मुलाकात का दो दिन से इंतजार कर रहे मसूद के अब अगले कदम पर सभी की नजरें टिकी हैं।

गौरतलब है कि तीन दिन पहले ही इमरान मसूद ने अपने साथी सहारनपुर देहात के विधायक मसूद अख्तर के साथ कांग्रेस छोड़कर सपा में शामिल होने की घोषणा भी कर दी थी। उन्होंने बेहट से सपा के टिकट पर खुद चुनाव लड़ने और मसूद अख्तर के सहारनपुर देहात सीट से चुनाव लड़ने की बात भी संवाददाताओं से कही थी।

इमरान मसूद के दूसरे साथी बेहट के विधायक नरेश सैनी कांग्रेस से अलग होकर भाजपा में शामिल हो गये और उन्हें बेहट सीट से भाजपा का टिकट भी मिल गया है। उल्लेखनीय है कि सहारनपुर जिले की सभी सात सीटों पर दूसरे चरण में 14 फरवरी को मतदान होना है।

सपा ने सहारनपुर की सातों सीट के लिए अपने उम्मीदवारों का चयन कर लिया है, सिर्फ इनके नामाें की घोषणा होना शेष है। सहारनपुर नगर से सपा ने मौजूदा विधायक संजय गर्ग को और भाजपा छोडकर सपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी को नकुड सीट से चुनाव चिन्ह दे दिया है।

इसी प्रकार देवबंद से पूर्व विधायक माविया अली को सपा चुनाव लडा सकती है। इस सीट पर भाजपा ने मौजूदा विधायक बृजेश रावत और बसपा ने हरिद्वार के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राजेंद्र चैधरी को उम्मीदवार घोषित किया है। जबकि गंगोह सीट पर सपा से चौधरी इंद्रसेन की उम्मीदवारी पक्की मानी जा रही है। गंगोह सीट पर बसपा ने इमरान मसूद के भाई नोमान मसूद को उम्मीदवार बनाया है।

अभी तक देवबंद सीट रालोद के खाते में थी, लेकिन चर्चा है कि रालोद को केवल रामपुर मनिहारान सीट ही मि पायेगी। सपा से उम्मीद पूरी नहीं होने देख इमरान मसूद के अब बसपा का रूख करने की चर्चा जोरों पर हैं।