देश

टिकैत के गांव में BJP विधायक उमेश मलिक की कार पर फेंकी कालिख, पथराव कर कांच तोड़ा

मुजफ्फरनगर: किसान नेता बाबा टिकैत की कर्मस्थली और भारतीय किसान यूनियन की राजधानी कहे जाने वाले मुजफ्फरनगर के गांव सिसौली में शनिवार को भाजपा विधायक उमेश मलिक की गाड़ी पर कालिख फेंकते हुए पथराव हो गया। उमेश मलिक मुजफ्फरनगर की बुढ़ाना विधानसभा सीट से विधायक हैं। इ, हमले का आरोप कृषि बिल का विरोध कर रहे किसानों पर लगा है।

भाजपा विधायक उमेश मलिक का ग्रामीणों द्वारा विरोध की जानकारी मिलते ही पुलिस वहां पर पहुंच गई। इसी बीच कुछ लोगों ने गाड़ी पर कालिख फेंक दी और पथराव कर दिया। पुलिस ने किसी तरह भीड़ को नियंत्रित करते हुए विधायक की गाड़ी को वहां से बाहर निकाला और घटना की जांच में जुट गई है।

मुजफ्फरनगर स्थित गांव सिसौली में भारतीय किसान यूनियन के सुप्रीमो नरेश टिकैत का दबदबा है। महेन्द्र सिंह टिकैत की विरासत को नरेश टिकैत और राकेश टिकैत संभाल रहे हैं। नरेश टिकैत भाकियू के अध्यक्ष हैं जबकि राकेश टिकैत भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं। सिसौली में भाजपा के बुढ़ाना विधायक उमेश मलिक  जन कल्याण समिति की पहली वर्षगांठ पर हुए कार्यक्रम में भाग लेने गए थे। वहां किसानों ने केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए तीन कृषि क़ानूनों में संशोधन की मांग को लेकर उनका विरोध कर दिया।

आरोप है कि एकत्रित भीड़ ने विधायक उमेश मलिक मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए उनकी कार पर कालिख फेंक दी। इस पर भी उग्र भीड़ शांत नही हुई और विधायक की स्कॉर्पियो कार पर पथराव किया, जिससे उनकी गाड़ी का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया। इस दौरान विधायक और अन्य नेताओं ने भागकर अपनी जान बचाई। इसी दौरान गाड़ी को बचाने की जद्दोजहद में पुलिसकर्मियों की वर्दी पर भी कालिख गिर गई।

घटना की जानकारी मिलते ही मंत्री संजीव बालियान भौराकलां थाने पहुंच गए और असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही। इसी दौरान विधायक उमेश मलिक भी अपने साथियों के साथ थाने पहुंचे और अपने ऊपर जानलेवा हमले की जानकारी दी। पथराव में विधायक के सुरक्षाकर्मियों को भी चोटें आई हैं।

दूसरी तरफ सिसौली में नरेश टिकैत इस मुद्दे को लेकर पंचायत की बात कर रहे हैं। वहीं भारतीय किसान यूनियन युवा संगठन के नेता अभिजीत बालियान का कहना है कि कृषि बिल के विरोध में शांति पूर्ण विरोध प्रदर्शन चल रहा था, विधायक के लोगों ने अभद्रता की। किसान किसी से दबने वाला नहीं है। फिलहाल अभी भाजपा के बड़े नेता और समर्थक बड़ी संख्या में थाने पर जुटे हुए है। वही सुरक्षा के मद्देनजर सिसौली में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।