दीनी तालीम और समाज सुधार समय की सबसे बड़ी आवश्यकता: जमीयत

नई दिल्ली: जमीयत उलमा दिल्ली प्रदेश की आज मजलिस आमला (कार्यसमिति) की महत्वपूर्ण बैठक में नबी करीम के प्रसिद्ध राजनीतिक व सामाजिक व्यक्तित्व भाई इस्लामुद्दीन साहब को जमीयत उलमा दिल्ली प्रदेश का सचिव नियुक्त किया गया। वह पिछले कार्यकाल में भी जमीअत उलमा दिल्ली प्रदेश के सेक्रेटरी थे। साथ ही जमीयत उलमा चांदनी चौक के भी नाज़िम थे। आज सुबह दस बजे नबी करीम की चूना वाली मस्जिद में राज्य जमीयत की कार्यसमिति के सम्मेलन में पूरे दिल्ली से जमीयत उलमा की मजलिस ए आमला (कार्यसमिति) के मेंबरों ने भाग लिया। सम्मेलन की कार्यवाही के बाद जमीयत उलमा दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष मौलाना आबिद क़ासमी और महासचिव मौलाना इस्लामुद्दीन क़ासमी सीमापुरी ने जनाब भाई इस्लामुद्दीन को पद का पत्र सौंपा और मुबारकबाद दी।

इस अवसर पर जमीयत उलमा ए हिंद के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना हकीमुददीन क़ासमी और केंद्रीय कार्यालय के कई प्रमुख ज़िम्मेदारों ने, विशेषकर मौलाना ज़ियाउल्लाह क़ासमी, मौलाना इरफान क़ासमी, मौलाना मोहम्मद यासीन जहाज़ी, आदिल नसीर, मोहम्मद मुबश्शिर, मोहम्मद अफज़ल, मौलाना अज़ीमउल्लाह सिद्दीक़ी आदि मौजूद रहे। पुरानी दिल्ली के प्रमुख राजनीतिक तथा सामाजिक कार्यकर्ता असद मियां, सचिव जमीयत उलमा ज़िला नई दिल्ली, नबी करीम की प्रसिद्ध सामाजिक हस्ती और जमीयत उलमा दिल्ली प्रदेश के उपाध्यक्ष भाई यूसुफ, मौलाना अब्दुल सुभान क़ासमी, अध्यक्ष जमीयत उलमा चांदनी चौक, हसनैन साहब नाज़िम जमीयत उलमा चांदनी चौक भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।

जमीयत उलमा ए हिंद के महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन क़ासमी ने इस अवसर पर अपने संबोधन में भाई इस्लामुद्दीन को मुबारकबाद दी और आशा व्यक्त की कि वह वर्तमान समय की सबसे बड़ी आवश्यकता दीनी तालीम और समाज सुधार पर अपने राज्य में काम करेंगे उन्होंने कहा कि जमीयत उलमा कोई राजनीतिक पार्टी नहीं है कि इसका पद किसी को लाभ पहुंचाए, मगर जमीयत उलमा एक ऐसी धार्मिक एवं सामाजिक जमात है कि इसमें काम करने वाला इंशाल्लाह, अल्लाह रब्बुल इज्ज़त की बारगाह में सुर्ख रू (लाभान्वित) होगा।

उन्होंने कहा कि नबी करीम दिल्ली का विशेष और व्यापारिक क्षेत्र है। आशा है कि आप सभी लोग जमीअत उलमा की आवाज़ को हर तरह से बुलन्द करेंगे। मौलाना ज़ियाउल्लाह क़ासमी ने भी अपनी और चांदनी चौक जमीअत उलमा की तरफ से मुबारकबाद दी। जनाब असद मियां ने नई दिल्ली जमीयत उलमा की तरफ से उनको मुबारकबाद दी। इसी तरह दीनी तालीमी बोर्ड जमीयत उलमा दिल्ली राज्य के अध्यक्ष मौलाना दाऊद अमीनी, महासचिव मौलाना क़ारी अब्दुल समी जमीयत उलमा नई दिल्ली के अध्यक्ष मौलाना क़ासिम नूरी, भाई वसीम सिद्दीक़ी, महासचिव ओल्ड ब्वॉय फतेहपुरी सीनियर सेकेंडरी स्कूल, मौलाना मुफ़्ती हिसामुददीन क़ासमी, उपाध्यक्ष जमीयत उलमा दिल्ली प्रदेश, मौलाना शमीम अहमद क़ासमी इमाम व खतीब जामा मस्जिद ज़ाकिर नगर ने भी मुबारकबाद दी।

सचिव पद पर नियुक्त किए जाने पर भाई इस्लामुद्दीन ने कहा कि उनको जो भी ज़िम्मेदारी दी गई है वह अपने को इस लायक नहीं समझते लेकिन अल्लाह ताला के हम शुक्रगुज़ार हैं कि उसने हमें जमीयत उलमा जैसी जमात में खिदमत करने का अवसर दिया। हम इसे एक नेमत (वरदान) समझते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *