देश

गांधी जयंती पर योगी ने चलाया चरखा तो शादाब ने किया तंज, ‘गांधी अगर आज होते तो…

नई दिल्ली: गांधी जयंती के मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चरखा चलाकर गांधी जी को याद किया। इस पर पीस पार्टी ने सवाल उठाए हैं। पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शादाब चौहान ने कहा है कि गांधीजी के नाम पर योगी आदित्यनाथ ढोंग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह लोग गांधी के नाम पर सिर्फ दिखावा करते हैं। शादाब चौहान ने कहा कि जब योगी आदित्यनाथ चरखा चलाकर गांधी जी को याद कर रहे थे उसी दौरान भारतीय जनता पार्टी और उसके अनुषांगिक संगठनों के लोग सोशल मीडिया पर गोडसे का महिमामंडन कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि गांधीजी अहिंसा में विश्वास रखते थे वे तमाम जिंदगी अहिंसा के रास्ते पर चले उन्होंने कभी भी हिंसा को बढ़ावा नहीं दिया बल्कि हिंसा को खारिज करते रहे। लेकिन आज भारतीय जनता पार्टी जिसका एजेंडा ही समाज में अलगाव पैदा करना है वह गांधीजी के नाम पर सिर्फ और सिर्फ ढोंग करती है। उन्होंने कहा कि यह बात जगजाहिर है कि भाजपा को गांधी से कितना प्रेम है गांधी जी के बारे में अमर्यादित टिप्पणी करने वाले अभी भी ना सिर्फ भारतीय जनता पार्टी के सदस्य हैं बल्कि लोकसभा में भी विराजमान हैं। शादाब ने कहा कि अगर भाजपा को गांधी जी से इतना प्रेम है तो गांधी जी पर अमर्यादित टिप्पणी करने वालो को पार्टी से क्यों नहीं निकाला गया?

पीस पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि आज जब एक तरफ भाजपा सरकार द्वारा मनमाने तरीके से विपक्ष को दबाया जा रहा है, विपक्ष के नेताओं को जेल में बंद किया जा रहा है और सी ए ए जैसा नस्लवादी कानून लाकर समाज में बंटवारा करने की साजिशें की जा रहीं हैं। आंदोलन करने वालों को देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद किया जा रहा है तब दूसरी तरफ चरखा चलाकर गांधी के नाम पर भाजपा ने सिर्फ ढोंग किया है। शादाब चौहान ने कहा कि आज अगर गांधीजी होते तो वह सत्ता के अहंकार में चूर सरकार के खिलाफ हमारी सफों में खड़े होते।

उन्होंने कहा कि गांधी जी पर किसी पार्टी किसी संगठन का कॉपीराइट नहीं है, बल्कि जो भी शांति सेवा और न्याय में विश्वास रखता है, सामाजिक सदभावना में विश्वास रखता है वह गांधी जी की नीतियों का समर्थक है। उन्होंने कहा कि एक तरफ भाजपा अहिंसा के पुजारी गांधी जी की याद में चरखा चलाती है दूसरी तरफ भाजपा के नेता असहमति की आवाज को दबाने के लिए गोली मारने का आह्वान करते हैं। और भाजपा उन नेताओं पर कोई कार्रावाई नहीं करती।