देश

शादाब चौहान बोले ‘डॉ. अय्यूब पर रासुका लगाकर यूपी सरकार ने हमारे ज़मीर को ललकारा है’

नई दिल्ली/लखनऊः पीस पार्टी अध्यक्ष डॉक्टर अय्यूब पर NSA लगाए जाने से पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी नाराज़गी है। कार्यकर्ताओं का कहना है कि वे डरने वालों में से नहीं हैं। डॉक्टर अय्यूब पर एनएसए लगाए जाने से नाराज़पीस पार्टी राष्ट्रीय प्रवक्ता शादाब चौहान ने पार्टी की तरफ से पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक आधिकारिक बयान जारी किया है। उन्होंने कहा है कि पीस पार्टी संवैधानिक संघर्ष करने लिए तैयार है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार लोकतंत्र का गला घोटना चाहती है, जो भी बेगुनाह, कमजोर और निचले तबके की आवाज उठा रहा है उन्हें सरकार साजिश के तहत जेल में डाल रही है, और झूठे मुकदमों में फंसा रही है।

पीस पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि डॉ. अय्यूब पर कार्रावाई सरकार ने दुर्भावनावश की है। वे लंबे समय से सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध करके जनता को जागरूक कर रहे थे। उनकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही थी। जिससे सरकार बौखला गई। शादाब चौहान ने कहा कि पीस पार्टी हमेशा मानवता, न्याय और शांति का संदेश देती रही है। प्रदेश की भाजपा सरकार को यह बर्दाश्त नहीं हुआ। शादाब ने आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष की आवाज को दबाकर लोकतंत्र का गला घोटना चाहती है, जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठा रहा है, चाहे वो आज़म ख़ान हों या डॉ. अय्यूब हों, उन्हें क़ानून का मनमाना इस्तेमाल करके जेल में बंद किया जा रहा है।

शादाब ने कहा कि देश में लोकतंत्र की रक्षा के लिए इंसानियत के लिए कुछ भी सहने को तैयार हैं। हम डरने वाले नहीं है। भाजपा सरकार कितना भी विपक्ष की आवाज को दबाने की कोशिश कर ले, लेकिन विपक्ष की आवाज़ मजबूती के साथ बुलंद होगी। उन्होंने कहा कि हम मजबूती से उभरे हैं। डॉ. अय्यूब पर NSA लगाकर सरकार ने पीस पार्टी के ज़मीर को ललकारा है।

पीस पार्टी नेता ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अय्यूब को सरकार ने उस वक़्त गिरफ्तार किया, जब वे ऑपरेशन थियेटर में एक मरीज़ का ऑपरेशन कर रहे थे। सरकार को यह भी याद रख लेना चाहिए कि 2022 में जनता इसका जवाब जरूर देगी। पीस पार्टी पर पोस्टर विवादित विज्ञापन प्रकाशित कराने का जो आरोप लगाया है। वह सरासर गलत है। जो विज्ञापन दिया गया है उसमें केाई भी चीज असंवैधानिक नहीं है। शादाब ने कहा कि पीस पार्टी सरकार द्रोही है। देशद्रोही नहीं है।