देश

शादाब चौहान बोले ‘कपिल मिश्रा का नाम अगर कामिल खान होता तो UAPA में जेल में होता’

नई दिल्ली/लखनऊः पीस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता शादाबा चौहान ने यूपी की भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार में कोरोना काल घोटाले हो रहे हैं, मॉबलिंचिंग हो रही है। उन्होंने कहा कि यूपी में जंगलराज क़ायम हो चुका है, ब्राह्मण, दलित, मुसलमानों हत्याएं हो रहीं हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में गाय की जान की क़ीमत है लेकिन ब्राह्णण, मुसलमान, किसान दलित की जान की कोई क़ीमत नहीं है।

पीस पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि अगर गौकशी के आरोप में कोई गिरफ्तार किया जाता है तो उस पर रासुका लगा दिया है लेकिन कानून की धज्जियां उड़ाने वाले अपराधी खुले आम घूम रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि यूपी सरकार में कोरोना काल में घौटाला हुआ है। चाईना के उत्पाद को दो रुपये में खरीदकर दो सो रुपये में बेचा गया है। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार हर मामले में विफल रही है।

शादाब ने कहा कि जनता त्रस्त है, बेरोजगारी चरम पर है. अपराध रुक नहीं रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद मौजूदा सरकार विपक्ष के नेताओं को निशाना बना रही है। पीस पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को क़ानून एंव सत्ता का दुरुपयोग करके जेल में रखा हुआ है, उन पर एनएसएस लगाया गया है। सरकार को लगता है कि वह हमारे नेता को जेल में रखकर हमारी आवाज़ को दबा देगी, लेकिन हम सरकार की इस ग़लतफहमी को दूर करते हैं. और ऐलान करते हैं कि हम सरकार की दमनकारी नीतियों से डरने वाले नहीं हैं।

शादाब ने दिल्ली के भाजपा नेता कपिल मिश्रा पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अगर कपिल मिश्रा का नाम  कामिल खान होता तो अब तक UAPA लगाकर गिरफ्तार कर लिया गया होता  रागिनी तिवारी का नाम रशीदा बेगम होता तो उन पर भी यूएपीए लग जाता अफसोस UAPA सिर्फ  मुसलमानों के खिलाफ इस्तेमाल होने वाला हथियार बन कर रह गया है।

Facebook Comments