देख लीजिए एक ईमानदार अधिकारी से कितना डरते हैं मोदी।

1
106

विक्रम सिंह चौहान

मोदी जी अपने दुश्मनों को कभी माफ नहीं करते।वह दुश्मन चाहे उन्हें एक घँटे के लिए परेशान किया हो।मुझे तो लगता है मोदी जी इसके लिए डायरी मेंटेन करते हैं,सबका नाम लिखा हुआ है किससे कब बदला लेना है?अगर किसी व्यक्ति से बदला नहीं ले पाया तो उसकी बेटी से या पत्नी से बदला लेते हैं।आपको चुनाव आयुक्त अशोक लवासा तो याद ही होंगे? वही आयुक्त जो लोकसभा चुनावों के समय आदर्श आचार सहिंता के उल्लंघन पर सुप्रीम कोर्ट की प्रतिक्रिया के बाद मोदी और अमित शाह पर 24 घँटे की बैन चाहते थे।

लेकिन मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने ऐसा होने नहीं दिया। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने अशोक लवासा की उन आपत्तियों को फाइनल ऑर्डर में शामिल करने से इंकार या यूं कहें रिजेक्ट कर दिया था जो उन्होंने मोदी और अमित शाह को क्लीनचिट देने पर लिखी थी। मोदी और शाह फंस गए थे लेकिन बच गए। इसके बाद शुरू हुआ बदलापुर।अशोक लवासा की बेटी 2012 बैच की आईएएस अवनी लवासा जो लेह में पोस्टेड है उन्हें काफी परेशान किया गया।दोनों बाप बेटी का कुछ नहीं बिगाड़ पाये तो अब अशोक लवासा की पत्नी नोवेल सिंघल को टैक्स चोरी के आरोप में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा परेशान किया जा रहा है.

आईटी डिपार्टमेंट ने लवासा की पत्नी को कई कंपनियों के डायरेक्टर के तौर पर उनकी इनकम के संबंध में नोटिस भेजा है.लवासा के खिलाफ जांच 2015-17 के बीच कथित टैक्स चोरी और कई कंपनियों में डायरेक्टर पद पर बने रहने को लेकर हो रही है. सारे आरोप ‘कथित तौर’ पर ही है।मकसद यही है कि अशोक लवासा को चुनाव आयुक्त पद से हटाया जाए,क्योंकि लवासा हरियाणा और महाराष्ट्र चुनावों में फिर से निष्पक्ष चुनाव को लेकर अपना तेवर दिखा सकते हैं। देख लीजिए एक ईमानदार अधिकारी से कितना डरते हैं मोदी।

1 COMMENT

  1. I needed to create you one little observation just to say thank you as before for these fantastic information you’ve discussed here. It has been certainly particularly generous of people like you to convey freely all that many people would’ve offered for an ebook to get some money for themselves, notably now that you might have tried it in case you desired. These solutions in addition served to be the good way to know that other people online have the identical interest really like my personal own to learn more and more related to this matter. I am sure there are numerous more pleasant periods in the future for many who read carefully your site.

Leave a Reply