देश

राजस्थान में ज़ोर पकड़ती जा रही उर्दू बचाओ मुहिम, मुस्लिम महासभा की चेतावनी अगर मांगे नहीं मानीं तो होगा बड़ा आंदोलन

जयपुर/लाडनूः मदरसा पैराटीचर्स संघ व उलमाए इकराम लाडनूं द्वारा उर्दू बचाओ आंदोलन के तहत चूरू से दाड़ी यात्रा पर निकले शमशेर भालू खान की आठ सूत्री मांगों को माने जाने हेतु उपखण्ड अधिकारी को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया। मुस्लिम महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष इरफान कायमखानी ने बताया 1090 किमी की पैदल यात्रा पर निकले शमशेर खान की मांग है कि राजस्थान के सभी स्कूलों और कॉलेजों में तृतीय  भाषा उर्दू ,सिंधी , गुजराती, पंजाबी ओर मदरसा पैराटीचर्स स्थाई करने सहित कई मांगे लेकर निकले है उनकी मांगे नही माने जाने पर राजस्थान में महासभा द्वारा बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

गहलोत सरकार होस में आओ जैसे नारे लगाते हुए सेंकडो लोग उपखण्ड कार्यलय पहुचे जिनमे सहर काजी सैयद मोहम्मद मदनी असरफी, मौलाना मोहम्मद इकबाल, अरमान टाक, इरफान कायमखानी, असलम एशिया, अमजद दिलेर, पार्षद आरिफ , मनसब खान, अयूब खान सामदखानी, तौकीर भाटी, अज्जु लीलगर, तालिब खान, फिरोज मोयल, इमरान खान, अख्तर हुसेन भाटी, शाहरुख फोजी , साकिर खान, मौसिम मोंटी, इरशाद इब्राहिम खान, मौलाना सकुर , मौलाना हासमी सैयद फैसल, हबीब खान, सिकन्दर फतेहखानी, आदि मौजूद रहे।

डीडवाना में भी सौंपा गया ज्ञापन

मुस्लिम महासभा डीडवाना द्वारा SDM साहब को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया गया। जिसमे ठाकूर शमशेर भालू खान के द्वारा तिर्तीय भाषा उर्दू सिंधी पंजाबी व गुजराती ओर पैरा टीचर्स के लिए दांडी यात्रा आंदोलन को ससम्मान वापसी करवाने के सम्बंध में दिया गया गया। जिसमे मुस्लिम महासभा अध्यक्ष जुनैद कोटवाल ने बताया कि चुरू से पैदल यात्रा कर रहे शमशेर खान लगभग 700 किलोमीटर से अधिक चल चुके हैं। जिससे उनकी तबियत खराब हो गई ओर कल वह बेहोश हो गये थे।

आज ठाकुर शमशेर खान उदयपुर प्रशासन के खराब रवैया से परेशान होकर उपवास पर है और अभी तक मौजूदा सरकार का उनके प्रति कोई प्रक्रिया नजर नहीं आ रही है अगर जल्द ही वर्तमान सरकार कोई फैसला ना ले तो कलेक्टर ऑफिस के सामने हमें धरना प्रदर्शन करने पर मजबूर होना पड़ेगा और कुछ बड़ा फैसला लेना पड़ेगा। आज के ज्ञापन में मुस्लिम महासभा अध्यक्ष जुनैद कोटवाल, एडवोकेट हकीम खान , बालियां सरपंच वसीम अकरम, अयान खान, रामसाबास  सरपंच नवाज शरीफ, शाहरूख खुनखुना, अमन इमरान, जमिल कोटवाल, पार्षद गुलशेर खान,  मुजिब कोटवाल, नदीम खान, सकिल  गरदेजी, नदीम, रेहान, मोनू आदि मोजुद रहै।