बुंलेलखंड में सपा की रैली में उमड़ा जनसैलाब, अखिलेश बोले ‘झाँसी वाले अब झाँसे में नहीं आएँगे!’

ज़रूर पढ़े

Wasim Akram Tyagi
Wasim Akram Tyagihttps://thereports.in/
Wasim Akram Tyagi is a well known journalist with 12 years experience in the active media. He is very popular journalist in Muslim Community. Wasim Akram Tyagi is a vivid traveller and speaker on the current affairs.

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में तीन दिवसीय चुनावी अभियान पर निकले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को वीरांगना नगरी झांसी में प्रदेश सरकार पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि बुंदेलखंड की जनता ने भाजपा को पूरा समर्थन दिया लेकिन इनके साढे चार साल के शासन के बाद यहां की जनता खाली हाथ ही रह गये। अब झांसीवाले इनके झांसे में नहीं आयेंगे ,इस बार इस बार बुंदेलखंड की जनता भाजपा को शून्य कर देगी, बुंदेलखंड से भाजपा का दरवाजा बंद हो जायेगा।

यहां एक स्थानीय होटल में पत्रकारों से बात करते हुए सपा सुप्रीमो ने कहा “ भाजपा की डबल इंजन की सरकार को बुंदेलखंड की जनता ने भरपूर वोट दिया लेकिन जनता खाली हाथ रह गई। इस सरकार ने बुंदेलखंड को आगे बढ़ाने के लिए, खुशहाल बनाने के लिए कोई ठोस फैसला नहीं लिया जो कार्य पुरानी सरकार में चल भी रहे थे उन्हें भी यह सरकार पूरा नहीं कर पाई, जनता अब सब समझ गयी है। झांसी की महारानी लक्ष्मीबाई ने जिस तरह से अंग्रेजों को खदेड़ने का काम किया था उसी प्रकार से बुंदेलखंड की जनता लाइन मे खड़ा होकर इनके खिलाफ वोट डालकर इन्हें बुंदेलखंड से खदेड़ने का काम करेगी।”

भाजपा सरकार के शासनकाल में युवा, किसान, व्यापारी सहित समाज का हर वर्ग जबरदस्त परेशानियों से जूझ रहा है। याद कीजिए जब लॉकडाउन लगाया गया था लोग पैदल पैदल अपने घर जा रहे थे। यह वह सीमा है जहां से मजदूरों को अंदर नहीं आने दिया जा रहा था कई दिनों तक वह बिना खाए बिना पिए बिना किसी इंतजाम के वह ऐसे ही पड़े रहे बॉर्डर पर। जब मजबूरी में अपना गुस्सा नहीं कंट्रोल कर पाए तो उन्होंने ब्रीकेटिंग तोड़कर मजबूरी में अपने घर का रास्ता पैदल तय किया । जो मजदूर भाई हमारे अन्य प्रदेशों में काम करते थे वह बिना नहाए बिना खाए पिए अन्य प्रदेशों में यूं ही पड़े रहे। सरकार ने उस समय कोई मदद उनकी नहीं थी, उन्हें अनाथ छोड़ दिया।

यह सपने दिखाने वाली सरकार है। युवाओं को रोजगार के नौकरी के खब सपने दिखाये गये। लखनऊ में इन्वेस्टमेंट के बड़े-बड़े आयोजन किए जिसमें प्रधानमंत्री जी आए राष्ट्रपति जी भी आए। सब आए लेकिन बता दीजिए कहां पर कारखाना लग गया, उद्योग लग गया। अब चुनाव आ गया तो मिसाइल का सपना दिखा रहे हैं झांसी के लोगों को, लेकिन जनता अब इनके झांसे में नहीं आयेगी।

किसानों पर इस सरकार में जबरदस्त अत्याचार हुआ। जिन्होने किसानों पर जीप चढ़ा दी उनके साथ सरकार खड़ी है उन्हें बचा रही है। चुनाव आ गया तो कह रहे हैं कि लैपटॉप देंगे टेबलेट बाटेंगे, स्मार्ट फोन देंगे। अगर सरकार ने अपना वादा पूरा किया होता लॉकडाउन में लोगों को नौजवानों को इतनी तकलीफ का सामना नहीं करना पड़ता। यह सरकार केवल पिछली सरकार के कार्यो का नाम बदलकर अपना बताने वाली सरकार है1 नाम बदलने वाली इस सरकार को बदलने का काम अब जनता करेगी।

भाजपा के शासनकाल में पुलिस से सबसे अधिक अत्याचार कराया गया, बहुत अन्याय हुआ है। सबसे ज्यादा कस्टोडियल डेथ उत्तर प्रदेश में हुई है। सबसे ज्यादा फेक एनकाउंटर पर एनएचआरसी के नोटिस उत्तर प्रदेश सरकार को मिले हैं। यह सरकार मारकर, डराकर राज करना चाहती है। भाजपा तुष्टीकरण नहीं बल्कि दुष्टीकरण की राजनीति करती है।

मुख्यमंत्री नाम बदलते हैं रंग बदलते हैं इसलिए पुलिस के अधिकारियों ने भी यूपी हंड्रेड की इनोवा का रंग बदल कर अपने साथ में लगा ली। पुलिस को सबसे अच्छा आधुनिक तंत्र सपा सरकार ने दिया था । हमने पुलिस के अधिकारियों को विदेश भेजा था । अधिकारियों से वहां से मिले अनुभव और ज्ञान तथा अपनी जरूरत के हिसाब से डायल 100 को शुरू किया था ,उस डायल 100 को इस सरकार ने कबाड़ा कर दिया। डायल 100 से 112 कर दिया 112 करने से कौन सा फायदा पहुंच गया। सीएम जब पहली बार आये थे तो वादा किया था मेट्रो और झांसी से दिल्ली तक एक्सप्रेस वे बनवाने का वादा किया था बना ही नही, अभी तक सीएम को पता ही नही बुन्देलखंड एक्सप्रेस को हमारे घर से जोड़ दिया है। एक्सप्रेस वे को पतला करके खराब कर दिया।

भाजपा के शासनकाल में समाज का हर वर्ग त्रस्त है और समाजवादी पार्टी विकल्प के रूप में जनता के सामने खुद को पेश कर रही है। यह यूं ही नहीं है सपा शासनकाल में ऐसे कार्य किये गये जिनसे विकास का मार्ग प्रशस्त हुआ। समाजवादी पार्टी के लोग बड़े सपने देखते हैं इसलिए आपके झांसी में हमारे शासनकाल में सैनिक स्कूल बना,फाइव हंड्रेड बेड हॉस्पिटल बना,फ्लाईओवर समाजवादियों द्वारा बनाया गया है जिसका नाम उन्होंने अपने नाम कर लिया, पैरा मेडिकल हॉस्पिटल समाजवादियों का बनाया हुआ है और कई घर ऐसे मिल जाएंगे जहां समाजवादियों का दिया लैपटॉप अभी तक चल रहा है।

अखिलेश ने कहा “ सपा विजय यात्रा का प्रोग्राम लगातार सफल चल रहा है। जनता का धन्यवाद देता हूं कि जहां जहां प्रोग्राम चल रहा है वहाँ वहाँ जनता का पूरा समर्थन मिल रहा है। पहले चरण में हमीरपुर गया था । हमीरपुर से जालौन और कालपी होकर यात्रा का वह पहला चरण था और उस दौरान जनता का जबरदस्त समर्थन दिखाई दिया था। इस बार भी जनता का पूरा प्यार और समर्थन सपा के पक्ष में दिखायी दे रहा है। जिस रास्ते से होकर हम आ रहे हैं वो पूरे बुंदेलखंड के जिलों में समाजवादी पार्टी के कार्यक्रम हो चुके हैं।”

उन्होंने दावा किया कि यदि समाजवादी सरकार बनेगी खेतों तक पानी पहुंचाने के लिए और कम से कम बुंदेलखंड के हमारे किसान दो फसल ले सके ऐसा इंतजाम करेंगे। इस मंहगाइ के बावजूद माताओ और बहनों को तीन गुना सम्मान देकर उनका मान बढ़ाने का काम करेंगे,हम झांसी को बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे से जोडेंगे। इस बार किसान और जवान, महिलाओं, कारोबारियों ने मन बना लिया है भाजपा को हराने का।

हॉकी के जादूगर मेजर ध्याननचंद्र को याद करते हुए कहा “ मैं मेजर ध्यानचंद जी पुण्यतिथि पर उनको नमन करता हूं। उन्होंने जब अमेरिका से ओलंपिक में खेला और हराया तब से अमेरिका ने हॉकी नही खेली। कुछ लोग कहते थे ध्यानचंद जी के इस पिक में चुंबक है। आने वाले समय मे स्पोर्ट में बढ़ावा देने के लिए कोई बड़ा फैसला लेना पड़ा तो लेगे। यहां ध्यानचंद स्टेडियम में हमने एस्ट्रो टर्फ तो दिया ही है लेकिन खेल और विशेषकर हॉकी से संबंधित कोई बड़ा काम करना पड़ा तो समाजवादी सरकार में खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने के लिए खेल को आगे बढ़ाने के लिए वह हम वह सभी फैसले लेंगे।

इस दौरान सपा के वरिष्ठ नेता और आईसीए-एपी के नवनिर्वाचित अध्यक्ष चंद्रपाल सिंह यादव, पूर्व एमएलसी श्यामसुंंदर सिंह, पूर्व गरौठा विधायक दीप नारायण सिंह यादव, प्रदेश महासचिव तिलकचंद अहिरवार आदि शामिल रहे।

पत्रकारों से वार्ता करने के बाद सपा सुप्रीमो विजय रथ यात्रा लेकर शहर के विभिन्न हिस्सों से गुजरे। यात्रा लक्ष्मीगार्डन से शहर के मुख्य इलाईट चौराहे , जेल चौराहा, कचहरी चौराहा, कुंज वाटिका विवाह घर, मंडी तिराहा, मेडिकल कॉलेज गेट होते हुए मेडिकल बाईपास तिराहा पहुंचा जहां यात्रा का भव्य स्वागत किया गया और अखिलेश बडागांव के लिए रवाना हो गये। बड़ागांव में एक जनसभा को संबोधित करेंगे इसके बाद चिरगांव में भी एक जनसभा करेंगे फिर मोंइ से हेलीकॉप्टर द्वारा लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे।

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X