विशेष रिपोर्ट

बचपन के दिनों से ही मिसेज दिलीप कुमार बनना चाहती थी सायरा बानो

मुंबईः बॉलीवुड अभिनेत्री और दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो बचपन के दिनों से ही मिसेज दिलीप कुमार बनने का ख्वाब देखा करती थी। अभिनय सम्राट दिलीप कुमार का आज सुबह निधन हो गया। सायरा हर वक्‍त दिलीप कुमार के साथ मजबूती से खड़ी रहीं और हर मुश्किल घड़ी में उनका हाथ थामे रहीं। लेकिन अब दोनों का साथ हमेशा के लिए छूट गया। दिलीप औप सायरा के रिश्ते की खास बात यह थी कि आज तक दिलीप को लेकर सायरा का जो प्यार है वो बरकरार था। सायरा, दिलीप का पूरा ध्यान रखती थी और उन्हें अपनी धड़कन मानती थीं।

सायरा बानो ने बताया था कि वह 12 साल की उम्र से मिसेज दिलीप कुमार बनने का ख्वाब देखती थीं। उनके बंगले के पास ही उन्होंने अपना घर बनवाया था। दिलीप कुमार ने 1966 में सायरा बानो से शादी की थी। जिस समय दिलीप कुमार और सायरा बानो की शादी हुई थी, उस समय सायरा बानो 22 और दिलीप साहब 44 साल के थे।

सायरा बानु ने बताया था कि जब वह छोटी थी और लंदन में स्टडी कर रही थी तबसे ही उनका रुझान था कि वह एक दिन मिसेज दिलीप कुमार बनेगी। सायरा की मां नसीम बानो ने उनसे कहा था कि आपको मिसेज दिलीप कुमार बनने के लिए वैसे ही शौक पैदा करने चाहिए, जैसे दिलीप साहब फरमाते हैं। जब सायरा हिंदुस्तान आई तो उन्हें पता चला कि दिलीप साहब को सितार का बेहद शौक है, तो फिर उन्होंने भी सितार सीखना शुरू कर दिया। दिलीप साहब उर्दू में माहिर हैं तो सायरा ने भी उर्दू सीखना शुरू किया। सायार ने बताया था कि जिसे 12 वर्ष की उम्र से चाहा और उसी का साथ मिल गया, यह तो कायनात की मेहरबानी ही है। मैं उनकी इतनी दीवानी थी कि मुझे अपने लंदन में स्कूल डेज के दौरान लिटरली उनके डे ड्रीम तक आते थे।

बताया जाता है कि जब सायरा ने दिलीप कुमार के सामने शादी का प्रस्‍ताव रखा था तो वे असमंजस में पड़ गये थे। चेन्‍नई में एक फिल्‍म की शूटिंग के दौरान अचानक दिलीप कुमार की तबीयत खराब हो गई थी, तब तुरंत सायरा फ्लाइट लेकर पहुंची थी। उन्‍होंने दिन-रात उनकी सेवा की। धीरे-धीरे दिलीप का झुकाव सायरा की ओर होने लगा और वर्ष 1966 में दोनों ने शादी कर ली।