नबी ﷺ के अपमान का मामला: अजित डोभाल ने माना, ‘पैग़ंबर पर टिप्पणी से भारत की प्रतिष्ठा को नुक़सान हुआ’

0
209

नई दिल्लीः भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल ने माना है कि भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा और भाजपा के ही दिल्ली प्रदेश के पूर्व मीडिया प्रभारी नवीन कुमार जिंदल की ओर से पैग़बंर मोहम्मद पर की गई विवादित टिप्पणी ने भारत की प्रतिष्ठा को नुक़सान पहुँचाया है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में कहा कि इस बयान ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की ऐसी छवि बना दी, जो हक़ीकत से कोसों दूर है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार से सवाल किया गया था कि क्या पैग़ंबर विवाद पर देश भर में हुए विरोध प्रदर्शनों ने भारत की प्रतिष्ठा को नुक़सान पहुँचाया है? इस पर उन्होंने जवाब दिया, “हाँ (इससे भारत की प्रतिष्ठा पर आँच आई है)।

उन्होंने कहा कि ये इस अर्थ में कि भारत को इस तरह दिखाया गया या भारत के ख़िलाफ़ ऐसी कुछ भ्रामक जानकारियाँ फैलाई गईं, जो सच्चाई से कोसो दूर है। अजित डोभाल ने कहा कि ज़रूरत थी कि हम उनसे बात करें उन्हें मनाएं और आप पाएंगे कि जहाँ भी हमने संबंधित पक्ष से बात की फिर वो देश में हो या देश के बाहर, हम उन्हें मनाने में कामयाब रहे। जब लोग भावनात्मक तौर पर उत्तेजित हो जाते हैं, तब उनका व्यवहार थोड़ा असंगत सा हो जाता है।”

जानकारी के लिये बता दें कि भाजपा की पूर्व नेता नूपुर शर्मा ने एक टीवी डिबेट के दौरान पैग़ंबर मोहम्मद पर विवादित बयानबाज़ी की थी। इस बयान को लेकर मुस्लिम देशों ने भारत के सामने आधिकारिक तौर पर विरोध जताया था। भाजपा ने नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया था और नवीन कुमार जिंदल को निष्कासित। हालाँकि, इसके बावजूद देश के अंदर भी बयान का भारी विरोध हुआ और नूपुर शर्मा की गिरफ़्तारी की माँग को लेकर अलग-अलग हिस्सों में हिंसक प्रदर्शन भी हुए। लेकिन दोनों नेताओं की गिरफ्तारी नहीं की गई है।