कालीचरण की गिरफ्तार के ख़िलाफ दक्षिणपंथियों का प्रदर्शन, लगाए विवादित एंव भड़काऊ नारे

0
354

गुरुग्राम में शुक्रवार को एक दक्षिणपंथी समूह ने छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये विवादित संत कालीचरण महाराज की गिरफ्तारी के विरोध में नारे लगाए। हिंदुत्तववादी संगठनों के लोगों ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथू राम गोडसे के अमर रहे के नारे लगाते हुए काली चरण की रिहाई की मांग की।

दक्षिणपंथियों का समूह विवादित एंव भड़काऊ नारेबाज़ी करते हुए ज्ञापन लेकर डीसी कार्यालय पहुंचा। इस दौरान इस समूह में शामिल लोगों ने एलान किया कि अगर कोई भी पुलिसकर्मी हैदराबाद से लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी को उनके भाषणों की वजह से गिरफ्तार करता है तो उसे 22 लाख रुपये का ईनाम दिया जाएगा।

लगाए भड़काऊ नारे

इस दक्षिणपंथी समूह द्वारा एक बार फिर भड़काऊ एंव विवादित नारे लगाए गए हैं। समूह में शामिल लोगों को “मुल्ला का, ना काज़ी, देश है वीर शिवाजी का” जैसे विवादित एंव भड़काऊ नारे लगाते हुए देखा जा सकता है। इतना ही नहीं इसी समूह में मौजूद लोगों ने “देश के गद्दारों को, गोली मारो…” जैसे भड़काऊ नारे भी लगाए हैं।

जानकारी के लिये बता दें कि रायपुर में आयोजित एक कथित धर्म संसद में कालीचरण महाराज नामी एक स्वंयभू बाबा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के ख़िलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए टिप्पणी की थी, इसी कथित धर्म संसद के मंच से मुसलमानो के खिलाफ भी बयानबाजी की गई थी। छत्तीसगढ़ पुलिस ने इस मामले में काली चरण को मध्यप्रदेश के खुजराहो से गिरफ्तार किया है। जिसकी रिहाई के लिये दक्षिणपंथी संगठनों के लोग नारेबाजी कर रहे हैं।

Leave a Reply