विदेश

राशद हुसैन: अमेरिका के पहले मुस्लिम धार्मिक स्वतंत्रता राजदूत, जिनका कनेक्शन बिहार से है

नई दिल्लीः अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने एक भारतीय-अमेरिकी राशद हुसैन को अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए एंबेसडर-एट-लार्ज के रूप में नामित किया है। राशद हुसैन इस महत्वपूर्ण पद को पाने वाले पहले मुस्लिम हैं। 41 वर्षीय हुसैन वर्तमान में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में भागीदारी और वैश्विक जुड़ाव  के निदेशक हैं। हुसैन येल यूनिवर्सिटी से लॉ डिग्री हासिल की है और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से इस्लामिक स्टडी और अरबी में मास्टर किए हुए हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग के वरिष्ठ वकील                                                                                                                                                               

व्हाइट हाउस के एक बयान में कहा गया है कि आज की घोषणा अमेरिकी राष्ट्रपित की प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है जिसमें सभी धर्मों के प्रति अमेरिकी प्रशासन की समान भावना परिलक्षित है। हुसैन इस मामले में पहले मुस्लिम होंगे जिन्हें अतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए एंबेसेडर एट लार्ज के रूप में नामित किया गया है। राशद इससे पहले राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग के न्याय विभाग में वरिष्ठ वकील के रूप में काम किया है।

ओबामा प्रशासन के दौरान राशद ने इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) में अमेरिका के विशेष दूत, स्ट्रेटजिक काउंटरटैरिज्म कम्युनिकेशन में अमेरिका के विशेष दूत और व्हाइट हाउस काउंसल में डेप्युटी एसोसिएट के रूप में अपनी सेवा दी है।

कई बहुपक्षीय संगठनों के साथ काम किया                                                                                                                                                     

एक दूत के रूप में राशद हुसैन ने बहुपक्षीय संगठनों के साथ काम किया, जिनमें इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) और संयुक्त राष्ट्र, विदेशी सरकारें, और नागरिक समाज संगठन, शिक्षा, उद्यमिता, स्वास्थ्य, अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और अन्य क्षेत्र शामिल हैं। राशद ने यहूदी-विरोधी का मुकाबला करने और मुस्लिम-बहुल देशों में धार्मिक अल्पसंख्यकों की रक्षा करने के प्रयासों का भी नेतृत्व किया है।

ओबामा प्रशासन में शामिल होने से पहले उन्होंने छठे सर्किट के लिए यूएस कोर्ट ऑफ अपील्स में डेमन कीथ के न्यायिक कानून क्लर्क के रूप में काम किया और ओबामा-बाइडन ट्रांजिशन प्रोजेक्ट के सहयोगी वकील भी थे। हुसैन के पास येल लॉ स्कूल से कानून की डिग्री है और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से अरबी और इस्लामी स्टडी में मास्टर डिग्री है। इस बीच अमेरिकी यहूदी समिति (एजेसी) ने राशद हुसैन को अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका का एंबेसडर-एट-लार्ज के रूप में नियुक्त करने के लिए बिडेन प्रशासन की प्रशंसा की।