राजस्थानः NEET परीक्षा में मुस्लिम बच्चों ने गाड़े झंडे

ज़रूर पढ़े

अखिल भारतीय स्तर की प्रतियोगी परीक्षाओं में भले राजस्थान की युवा पीढ़ी का प्रदर्शन कुछ खास न हो, पर नीट में प्रत्येक वर्ष यह अच्छा करते रहे हैं। इस बार भी नीट के रिजल्ट में राजस्थान के बच्चों की अच्छी भागीदारी है। हालांकि आल इंडिया 100 रैंकिंग में इनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। बावजूद इसके कई मुस्लिम बच्चे 5000 तक की रैंकिंग में अपना नाम दर्ज करने में सफल रहे।

चिकित्सक बनने की चाह रखने वाले बच्चे मेडिकल कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए अखिल भारतीय स्तर की नीट परीक्षा में बैठते हैं, जिसका रिजल्ट सोमवार की देर शाम आया है। राजस्थान के बच्चे भी खासी संख्या में नीट में सफल रहे। राज्य के कई मुस्लिम बच्चे भी नीट में सफल हुए हैं।

राजस्थान के सीकर में नीट की तैयारी के लिए कई कोचिंग संस्थान हैं। यहां के कई बच्चे नीट में कामयाब हुए हैं। शेखवटी मुस्लिम बच्चों ने भी सफलता पाई है। अच्छी रैंक पाने वालों में मुस्लिम बेटियां भी हैं।

शेखावाटी जनपद से नीट में अच्छी रैंक लेकर आने वाले मुस्लिम बच्चों में हनीफ खान 574 रैंक , तरन्नुम 3100 रैंक, रेहाना खान 2007, मुबस्सिर टांक 4181, जीशान सिद्दीकी 4058रैंक, अरबाज खान 5747रैंक, सानिया 5421 रैंक, आदि ने अपना नाम दर्ज कराया है।

इनमें से अधिकांश का इरादा है चिकित्सक बनकर प्रदेश के पिछड़े इलाके के लोगों की सेवा करने की। सीकरी में डा। अली अहसन प्रदेश के चर्चित हड्डी रोग विशेष हैं। नीट करने वाले अधिकांश बच्चों का इरादा उन जैसा मशहूर डॉक्टर बनने का है।

सभार आवाज़ द वायस

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X