देश

ग़ुलाम नबी आज़द के बयान पर सियासत तेज़, राजद और भाजपा ने दी यह प्रतिक्रिया

नई दिल्लीः कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ग़ुलाम नबी आज़ाद ने पांच सितारा होटल से राजनीति करने वाले कांग्रेस नेताओं पर सवाल खड़े किए हैं। समाचार ऐजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे लोगों का ब्लॉक स्तर पर, जिला स्तर पर लोगों के साथ कनेक्शन टूट गया है। जब कोई पदाधिकारी हमारी पार्टी में बनता है तो वो लेटर पैड छाप देता है, विजिटिंग कार्ड बना देता है, वो समझता है बस मेरा काम ख़त्म हो गया, काम तो उस समय से शुरू होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हमारा ढ़ांचा कमजोर है, हमें ढ़ांचा पहले खड़ा करना पड़ेगा। फिर उसमें कोई भी नेता हो चलेगा। सिर्फ नेता बदलने से आप कहेंगे कि पार्टी बदल जाएगी, बिहार आएगा, मध्य प्रदेश आएगा, उत्तर प्रदेश आएगा, नहीं वो सिस्टम से बदलेगा। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि फाईव-स्टार से चुनाव नहीं लड़े जाते। हमारे नेताओं के साथ समस्या है कि अगर टिकट मिल गया तो फाईव-स्टार में जाकर बुक हो जाते हैं। एयर कंडीशनर गाड़ी के बिना नहीं जाएंगे, जहां कच्ची सड़क है वहां नहीं जाएंगे। जब तक ये कल्चर हम नहीं बदलेंगे, हम चुनाव नहीं जीत सकते।

दूसरे दलों ने भी साधा निशाना

ग़ुलाम नबी आज़ाद की इस इंटरव्यू पर प्रतिक्रिया देते हुए यूपीए के सहयोगी दल राजद के सांसद मनोज झा ने कहा कि बीते कुछ दिनों में कई हल्कों से कांग्रेस के अंदर ये आवाज़ आ रही है। किसी भी पार्टी के अंदर ये क्षण आते हैं, जब आप ऊपर से नीचे की तरफ आते हैं तो कई तरह की बातें आती हैं। मित्र दल होने के नाते मैं आग्रह करूंगा कि एक प्लेटफॉर्म बनाइए और बात कीजिए।

उधर झारखंड के भाजपा नेता प्रतुल शाहदेव ने कांग्रेस नेतृत्व पर ही सवाल खड़े किये हैं। उन्होंने कहा कि  गुलाम नबी आज़ाद कांग्रेस के बहुत वरिष्ठ नेता हैं। उन्होंने ऐसे मुद्दों को उठाया है तो कांग्रेस को आंतरिक लोकतंत्र के जरिए इसपर विचार करना चाहिए। बिहार चुनाव में पार्टी की जो दुर्गति हुई उसके लिए कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस नेतृत्व भी ज़िम्मेदार है।

Facebook Comments