देश

पीस पार्टी प्रभारी मोहम्मद इरफान बोले ‘यूपी में कांग्रेस का नामो निशान नहीं, जनता के पास पीस पार्टी ही है विकल्प’

लखनऊः शाहजहनपुर स्थित शाहजहाँपुर पैलेस में पीस पार्टी के प्रदेश प्रभारी इंजीनियर इरफान ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का नामो निशान नही है। उन्होंने कहा कि पीस पार्टी 2022 का चुनाव अकेले अपने दम पर लड़ेगी। इंजीनियर इरफान ने कहा कि साल 2017 और 2019 में पीस पार्टी गठबंधन के झांसे में आ गई थी, जिस पार्टी और संगठन दोनों का ही नुकसान हुआ। उन्होंने ये बातें एक प्रेस कांफ्रेंस में कहीं।

इरफान ने कहा कि बीते एक वर्ष से पीस पार्टी सूबे के अंदर अपना संगठन मज़बूत करने में लगी हुई है, जिसके नतीजे बहुत जल्द जनता के सामने होंगे। उन्होंने कहा कि पीस पार्टी यूपी विधानसभा चुनाव में 250 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। इरफान ने बताया कि 250 सीटों को चिन्हित करके उन पर कार्य करने का काम पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा शुरु कर दिया है।

मोहम्मद इरफान शाहजहांपुर में कार्यकर्ताओं की समीक्षा बैठक लेने आए थे। उन्होंने कहा कि यूपी में सबसे बड़ा मुद्दा किसानों का मुद्दा है, बेरोजगार युवाओं का मुद्दा है, महिला सुरक्षा का मुद्दा है। इन मुद्दों के लेकर पीस पार्टी 2022 का चुनाव लड़ेगा। उन्होंने कहा कि सपा, बसपा, भाजपा से जनता त्रस्त है, और कांग्रेस का यूपी में कोई नाम निशान तक नहीं है। इरफान ने कहा कि जनता को पीस पार्टी से ही उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के अंदर जजपा आज सरकार में शामिल है, जबकि वह सिर्फ आठ महीने पुरानी ही पार्टी है। यह सिर्फ जनता से संवाद से करने के कारण ही हो पाया है। इसलिये पीस पार्टी ने भी फैसला लिया है कि वह सीधे जनता से संवाद करेगी।

जनहित के मुद्दे उठाएंगे

मोहम्मद इरफान ने कहा कि हमें सांप्रदायिक मुद्दों से दूर रहना है, और सिर्फ जनहित के मुद्दों पर काम करना है। जब उनसे पूछा गया कि धान की क़ीमतों को लेकर किसान परेशान हैं, तो उन्होंने कहा कि इन तमाम मुद्दों को लेकर 17 नवंबर को पीस पार्टी का प्रदर्शन है। उन्होंने कहा कि इस प्रदर्शन में शिक्षकों के मुद्दे भी हैं, किसानों एंव कृषि विरोधी क़ानून का मुद्दा भी शामिल है। उन्होंने कहा कि तीन क़ानून लाकर कृषि को कार्पोरेट जगत के हाथों में देने की तैयारी की गई है।

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते मोहम्मद इरफान

उन्होंने कहा कि आज यूपी की सभी पार्टियां सिर्फ फेसबुक और ट्विटर तक सिमट कर रह गईं हैं। इरफान ने कहा कि हाल में यूपी में सात सीटों पर उपचुनाव हुआ था, लेकिन किसी भी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष इस चुनाव में प्रचार करने तक नहीं गया, जनता हताश है और पीस पार्टी को विकल्प के तौर पर देख रही है। इस प्रेस कांफ्रेंस में राष्ट्रीय प्रवक्ता शदाब चौहान, राष्ट्रीय महासचिव अफ़रोज़ बदल, मण्डल कोऑर्डिनेटर डॉक्टर इक्तेदार, प्रदेश महासचिव डॉक्टर रफ़त, युवा ज़िला अध्यश डॉक्टर फ़रहान चांद आदि मौजूद रहे।