देश

जामिया छात्रों की गिरफ्तारी पर चंद्रशेखर बोले, ‘इस ज़ुल्म के खिलाफ खड़े हों, आज जामिया की बारी है, अगला नंबर….’

नई दिल्लीः नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ प्रदर्शन करने वाले जामिया छात्रों को दिल्ली पुलिस द्वारा लगातार गिरफ्तारियां जारी हैं। बीते रोज़ दिल्ली पुलिस द्वारा जामिया छात्र आसिफ इक़बाल को गिरफ्तार किया गया है. उनसे पहले जामिया छात्रा सफूरा जरगर और जामिया छात्र मीरान हैदर समेत आधा दर्जन से भी अधिक छात्रों की गिरफ्तारी हो चुकी है। ये गिरफ्तारियां दिल्ली पुलिस द्वारा की जा रही हैं, इन गिरफ्तारियों समाजिक संगठनों के लोग लगातार सवाल उठा रहे हैं। अब आज़ाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद ने जामिया छात्रों की गिरफ्तारी के खिलाफ जनता से आह्वान किया है कि वह इनके खिलाफ आवाज़ उठाए।

चंद्रशेखर ने कहा कि हुकूमत लॉक डाउन को ज़ुल्म को औजार बना चुकी है। सरकार की नीतियों का विरोध कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी लोकतंत्र को ठेंगा दिखाने जैसा है। इस ज़ुल्म के खिलाफ खड़े हों। आज जामिया की बारी है, अगला नंबर आपका होगा। याद रखिये आपकी चुप्पी ही तानाशाह की ताकत है।

आज़ाद समाज पार्टी के प्रमुख ने मजदूरों के हालात पर भी सरकार को घेरने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि पीएम और सीएम ने तो पहले ही हाँथ खड़े कर दिया कि वह मजदूरों की कोई मदद नहीं करेंगे। आत्मनिर्भर बनो और खुद जाओ। अब यूपी की सीमाओं को सील करके पैदल थके हारे मजदूरों पर तो इतना ज़ुल्म न करे हुकूमत,दर्दनाक मंजर। सरकार को मजदूरों का दर्द दिख नही रहा या सरकार देखना नही चाहती?

प्रधानमंत्री मोदी पर तंज करते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि “मैं देश नहीं बिकने दूंगा..” नारे से देश को बेवकूफ बनाने वाले चौकीदार आज देश के हर एक हिस्से को बेचने को आतुर हैं। मतलब किसी और को नहीं बेचने देंगे बल्कि चौकीदार खुद ही देश को बेचेंगे। इन्ही कमजोर इरादे एवं भ्रष्ट नीति के चलते देश का बेड़ा गर्क हो रहा है।