दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ सुल्ली डील बनाने वाला ओंकारेश्वर ठाकुर

0
174

नई दिल्ली/इंदौर: दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम यूनिट ने मुस्लिम महिलाओं की ‘नीलामी’  वाले सुल्ली डील ऐप बनाने के आरोपी को मध्य प्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया है। आरोपी 25 साल का ओंकारेश्वर ठाकुर है जो इंदौर के न्यूयॉर्क सिटी टाउनशिप का रहने वाला है। पुलिस ने उसे उसके घर से  गिरफ्तार किया है। उसने आईपीएस अकादमी इंदौर से बीसीए किया है।

पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ के दौरान उसने स्वीकार किया है कि वह ट्विटर पर एक ट्रेड-ग्रुप का सदस्य था और मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने और ट्रोल करने के लिए विचार साझा करता था। उसने यह भी कबूल किया है कि उसने GitHub पर कोड विकसित किया था।

उसने बताया कि GitHub पर ग्रुप के सभी मेंबर का एक्सेस था। उसने अपने ट्विटर अकाउंट पर ऐप को भी शेयर किया था। उसने यह भी बताया कि ग्रुप के सदस्यों द्वारा मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड की गई थीं।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि ओंकारेश्वर ने जनवरी 2020 में अपने ट्विटर हैंडल @gangescion के जरिए ट्विटर पर एक ग्रुप जॉइन किया था। इस ग्रुप का नाम ट्रेडमहासभा था। इस ग्रुप में मुस्लिम महिलाओं को ट्रोल करने को लेकर बहस होती थी।

इसके बाद उसने GitHub पर सुल्ली डील्स एप बनाया लेकिन जैसे ही सुल्ली डील्स का मामला सुर्खियों में आया उसने अपने सभी सोशल मीडिया के फुटप्रिंट डिलीट कर दिये। उसके पास मिले गैजेट्स की पुलिस जांच कर रही है।

‘Sulli Deals’ऐप, जिसे पिछले साल लॉन्च किया गया था, पर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें पोस्ट कर उसे ‘नीलामी’ के लिए सूचीबद्ध किया था। बिना अनुमति के ली गई इन तस्वीरों से छेड़छाड़ भी की गई थी।