रंग लाई निकहत ज़रीन की मेहनत, मिली भारतीय मुक्केबाजी दल में जगह

0
152

नयी दिल्ली: टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली लवलीना बोरगोहेन और हाल ही में तुर्की के शहर इस्तांबुल में आयोजित विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक-जीतने वाली निकहत ज़रीन ने शनिवार को उम्मीदों पर खरा उतरते हुए ट्रायल के अंतिम दिन बड़ी जीत के साथ 2022 राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भारतीय मुक्केबाजी दल में अपना स्थान पक्का किया।

नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित तीन दिवसीय ट्रायल में नीतू (48 किग्रा) और जैस्मीन (60 किग्रा) ने भी अपने-अपने भार वर्ग के फाइनल में कड़ी मेहनत से मिली जीत के बाद चार सदस्यीय भारतीय महिला टीम में जगह बनाने में सफलता हासिल की।

पूरी तरह प्रभावशाली प्रदर्शन करते हुए लवलीना और निखत ने अपने-अपने वर्ग में एकतरफा अंदाज में 7-0 से जीत दर्ज की। लवलीना ने जहां 70 किग्रा भार वर्ग में पूजा को हराया, वहीं निखत ने 50 किग्रा वर्ग में मीनाक्षी को मात दी।

दिन के पहले रोमांचक मुकाबले में नीतू ने 2019 में आयोजित विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाली मंजू रानी के खिलाफ शानदार वापसी करते हुए 5-2 से जीत हासिल की। पहले राउंड में हारने के बावजूद, नीतू ने अच्छी वापसी की। इस मुकाबले में दोनों मुक्केबाजों ने एक दूसरे की क्षमता का भरपूर दोहन किया।

इस बीच, जैस्मिन को इस साल आयोजित विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली परवीन से लाइटवेट वर्ग के फाइनल में भी कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा। वह हालांकि 6-1 के अंतर से यह मुकाबला जीतने में सफल रही।

ट्रायल के परिणामों के आधार पर, भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) ने 28 जुलाई से 8 अगस्त तक इंग्लैंड के शहर बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए आठ पुरुष मुक्केबाजों सहित 12 सदस्यीय भारतीय मुक्केबाजी दल का चयन किया है।

पुरुष वर्ग में शिव थापा (63.5 किग्रा), अमित पंघाल (51 किग्रा), मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा), रोहित टोकस (67 किग्रा), सुमित (75 किग्रा), आशीष कुमार (80 किग्रा), संजीत (92 किग्रा) और सागर (+92 किग्रा) ने इस महीने की शुरुआत में हुए ट्रायल में जीत के बाद पुरुष टीम में अपना स्थान सुरक्षित किया था।