मुंबई में इतिहास रचने वाले न्यूज़ीलैंड के एजाज़ पटेल को नहीं मिली बंगलादेश के ख़िलाफ़ सीरीज़ के लिए टीम में जगह

0
239

वेलिंग्टन: दिसंबर 2021 एजाज़ पटेल के लिए उतार-चढ़ाव से भरा महीना रहा है। तीन हफ़्ते पहले वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में एक पारी में 10 विकेट लेने वाले महज़ तीसरे खिलाड़ी बने थे। इस कारनामे के बाद भी उन्हें घर पर बंगलादेश के ख़िलाफ़ नए साल के पहले दिन शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज़ के 13 सदस्यीय दल में जगह नहीं मिली है।

न्यूज़ीलैंड के प्रमुख कोच गैरी स्टेड का कहना है कि टीम परिस्थितियों के अनुसार सही खिलाड़ियों का चुनाव करने में विश्वास रखती है। यही कारण है कि घर पर तेज़ गेंदबाज़ी के लिए अनुकूल परिस्थितियों में एजाज़ को बाहर रखा गया है। मुंबई में जन्मे बाएं हाथ के स्पिनर एजाज़ इस निर्णय से निराश हैं, लेकिन उन्हें इस बात से कोई आश्चर्य नहीं हो रहा है।

टेस्ट टीम की घोषणा के बाद एजाज़ ने कहा कि घर पर न्यूज़ीलैंड के मौजूदा तेज़ गेंदबाज़ों की सफलता ने एकादश में स्पिन गेंदबाज़ (जो बल्ले से अधिक योगदान नहीं देता है) के मूल्य को कम कर दिया है। उनकी इस बात में सच्चाई भी है। पिछले तीन वर्षों में घर पर न्यूज़ीलैंड के स्पिनरों ने 152.3 ओवर डाले हैं। इस दौरान केवल सात सफलताएं उनके हाथ लगी हैं। और तो और गेंद के साथ-साथ बल्ले से योगदान देने वाले मिचेल सैंटनर ने इस दौरान 100 से भी अधिक ओवर फेंके हैं।

इसकी तुलना में, न्यूजीलैंड के तेज़ गेंदबाज़ों ने दस गुना अधिक (1565.3) ओवर डाले हैं और तीन गुना बेहतर स्ट्राइक रेट से 196 विकेट अपने नाम किए हैं। एजाज़ ने घर पर केवल दो मुक़ाबले खेले हैं और वह अपनी पहली विकेट की तलाश कर रहे हैं। इन दो मैचों में उन्होंने महज़ 18 ओवर गेंदबाज़ी की है।

एजाज़ ने मीडिया से कहा, ”सच्चाई यह है कि टीम को घर पर बल्ले से अधिक योगदान चाहिए। उम्मीद हैं कि मुझे अहम पारियां खेलने का मौक़ा मिलेगा और मैं कुछ कर दिखाऊंगा। अभी हमारे पास न्यूज़ीलैंड में अब तक के कुछ बेहतरीन तेज़ गेंदबाज़ हैं। मैं किसी अन्य युग का अनादर नहीं कर रहा हूं, लेकिन यह वास्तविकता है। भविष्य में यह बदल सकता है और एक विशेषज्ञ स्पिनर उस वातावरण में अधिक मूल्यवान बन सकता है।”