शर्मनाक: मुस्लिम छात्राओं से मार-पीट करने के आरिपतों का जेल से बाहर आने पर बजरंगदल ने किया महिमामंडन

कर्नाटक के कोडागु जिले में मानवता को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है। दरअस्ल दो हिंदुत्ववादी युवक मुस्लिम युवतियों से छेड़खानी के आरोप में जेल गए थे, जब वे ज़मानत मिलने पर जेल से बाहर आए तो बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया, और उनके लिये हस संभव मदद करने का एलान किया। न्यूज़ मिनट की एक रिपोर्ट के अनुसार चार दिसंबर को इन दोनों युवकों की रिहाई हुई है। मामला कर्नाटक के कोडगु जनपद मदिकेरी जेल का है।

दो मुस्लिम लड़कियों को सार्वजनिक रूप से परेशान करने के आरोप में दो सप्ताह जेल में बिताने के बाद 4 दिसंबर की शाम को कर्नाटक के कोडागु जिले के मदिकेरी जिला जेल से दोनों आरोपी बाहर आए। उनसे मिलने के लिए जेल के बाहर कुछ लोग जमा हो गए। इन लोगों ने दोनों आरोपितों को भगवा शॉल में पहनाया, इस दौरान भाजपा नेता एसएन रघु ने इन आरोपितों के साथ मुस्कुराते हुए तस्वीरें खिंचवाईं।

जेल से रिहा हुए इन आरोपितों के समर्थन में रघु ने कहा, “ये युवा धर्म के काम में शामिल थे और यह राष्ट्र उन्हें आशीर्वाद देगा और उन्हें समृद्ध बनाने में मदद करेगा।” एक हफ्ते पहले रघु ने इन आरोपितों के परिवारों से मुलाकात की और उन्हें आश्वासन दिया था कि, “हम आपके बेटे को घर वापस लाएंगे। उन्होंने यह देश के लिए किया है…उन्होंने यह अपने धर्म के लिए किया है। आपको कुछ भी खर्च करने की जरूरत नहीं है, हम आपका ध्यान रखेंगे।”

क्या था मामला

दरअस्ल 18 नवंबर एक फोटोकॉपी की दुकान पर दो नाबालिग स्कूल जाने वाली मुस्लिम लड़कियों के साथ मारपीट करने के आरोप में प्रज्वल और कौशिक दो लोगों को जेल भेजा था। वे उस 30 लोगों की उस भीड़ का हिस्सा था, जो मुस्लिम लड़कियों से इसलिये नाराज़ थी क्योंकि उन्होंने अपना बुर्का एक ईसाई लड़की को सौंप दिया था।

यह घटना एक महीने में कोडागु में दर्ज किए गए सांप्रदायिक ‘हेट क्राइम’ की घटना में सबसे अलग और नई थी। स्कूली बच्चों के साथ मारपीट करने के आरोपितों को लोगों द्वारा प्राप्त समर्थन ने पहाड़ी जिले के निवासियों को चिंतित कर दिया है। लेकिन कोडागु में हिंदुत्ववादियों को लगता है कि वे ऐसा करके राष्ट्र निर्माण कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *