मुजफ्फरनगर: मृत बताकर काट दिये हज़ारों मुसलमानों के वोट, जमीअत ने जताई नाराजगी

मुजफ्फरनगर में मुस्लिम समाज के हज़ारो वोट मृतक दिखाकर काटे जाने की साजिश का खुलासा हुआ है। जमीअत उलमा मुजफ्फरनगर का एक प्रतिनिधि मण्डल जमियत उलमा के प्रदेश सेक्रेटरी कारी जाकिर हुसैन कासमी के नेतृत्व मे जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह से मिला। मुख्य निर्वाचन आयुक्त भारत निर्वाचन आयोग के नाम ज्ञापन सौंपा। कारी जाकिर हुसैन ने इस साजिश का खुलासा करते हुए पूरे मामले की जांच कराने की मांग की। उन्होंने कहा कि जमीयत उलमा समस्त सामाजिक कार्यों में बढचढ कर हिस्सा लेती है। इसी के मद्देनज़र एक नवम्बर से 30 नवम्बर तक जो वोट बनवाने – काटने और करेक्शन कराने का कार्य चल रहा है।

उन्होंने बताया कि जमीयत मतदाता जागरुकता अभियान में प्रदेश भर में पूरा सहयोग कर रही है। जनपद में विभिन्न स्थानों पर वोट बनवाने के दौरान ऐसे तथ्य सामने आये हैं कि किसी व्यक्ति विशेष द्वारा सैकड़ों लोगों के बारे में झूठी आख्या दी गयी है कि यह लोग शिफ्ट हो गये हैं या मिसिंग है या मृत्यु हो गई है। इसके कुछ साक्ष्य भी दिए गए है। नगर के आजाद हाई स्कूल की भाग सं० 29 पर सलमान हैदर (इपिक नं०IXK0285221) नामक व्यक्ति ने 219 लोगों के बारे में झूठी आख्या दी है जिसमें किसी को शिफटिड किसी को मिसिंग तो किसी को मृत दर्शाया गया है।

इसी प्रकार भाग सं0 59 में मौहम्मद शाहिद पुत्र तौफीक (इपिक नं० IXK1993674) ने 200 से अधिक लोगे की उपरोक्त की ही तरह झूठी आख्या दी है। भाग सं0 61 में 8 फार्म ऐसे मिले जिन्हें भाग सं0 59 में मौहम्मद सुहैल (इपिक नं० IXK1324300) के द्वारा झूठी आख्या देकर मृत दर्शाया गया। जमियित कार्यकर्ताओं ने बी०एल०ओ० को साथ लेकर जब सम्बन्धित क्षेत्रों का सर्वे किया तो उनमें से ज्यादातर

लोग अपने घरों पर उपस्थित मिले और जिनको मृत दर्शाया गया उनमें से अक्सर लोग जीवित मिले। इसी तरह भाग सं० 27 व 28 में हुआ है। जनपद में विभिन्न स्थानों पर ऐसे मामले सामने आए हैं किसी व्यक्ति विशेष द्वारा बड़ी संख्या में लोगों के बारे में आख्या देना कहाँ तक उचित है यह जांच का विषय है।

प्रतिनिधि मण्डल में मुख्य रूप से जमियत के जिला महासचिव कारी जाकिर हुसैन कासमी, शहर सदर हाफिज मोहम्मद इकराम, शहर जनरल सेक्रेटरी कारी मोहम्मद आदिल, नायब शहर सदर हाजी वसीम आलम, हाजी शाकिर, मोहम्मद शिबली, कारी अब्दुल माजिद, मौलाना अरशद, डॉ एजाज़ गाफिर, हाजी अंजुम परवेज, मौलाना मोहम्मद अहमद, सुलैमान कुरैशी, कारी मोहम्मद सादिक, खलील अहमद आदि मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *