देश

मुरादनगर हादसाः चंद्रशेखर बोले दोषियों पर लगे रासुका, पीड़ित परिवार को मिले 25-25 लाख मुआवज़ा

नई दिल्लीः बीते रोज़ दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद के मुरादनगर में श्मशानघाट की छत गिरने से 24 लोगों की जान चली गई। इस हादसे के बाद विपक्षी पार्टियों ने सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधा है। आज़ाद समाज पार्टी के सुप्रीमो चंद्रशेखर आज़ाद ने इस हादसे के दोषियों पर एनएसए लगाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि गाजियाबाद श्मशान घाट हादसा योगी सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार की पोल खोल रहा है। तत्काल सभी दोषियों पर NSA के तहत कार्यवाही हो।

चंद्रशेखर ने कहा कि सरकार मृतक परिवारों को 25-25 लाख रुपये एवं घायलों को उचित इलाज के साथ 05-05 लाख रुपये का सहयोग एवं सरकारी नौकरी सुनिश्चित करे। बता दें कि यह मुरादनगर का यह श्‍मशान घाट बेहद दयनीय हालत में था। इसका जीर्णोद्धार कराए जाने के लिए 50 लाख रुपये का ठेका अजय त्यागी नाम के ठेकेदार को दिया गया था। जिस बरामदे का लिंटर गिरने से यह हादसा हुआ, वह बरामदा भी इसी टेंडर के तहत दो महीने पहले ही बना था।

मुरादनगर नगर पालिका के चेयरमैन विकास तेवतिया ने इस हादसे के बाद कहा था कि जिस तरह से यह लिंटर गिरा है, उससे साफ जाहिर है कि घटिया निर्माण सामग्री इस्तेमाल हुई है। उन्होंने आश्वासन दिया था कि वे खुद अपने स्तर से इसकी गहनता से जांच कराएंगे। नगर पालिका के चेयरमैन ने बताया कि नगर पालिका की तरफ से इस श्‍मशान की चारदीवारी और सौंदर्यीकरण के लिए 50 लाख का ठेका अजय त्‍यागी को दिया गया था। हाल ही में इस बरामदे का निर्माण इसी टेंडर के तहत हुआ था जहां का लिंटर गिरा है।