देश

आज़म ख़ान के समर्थन में आए मुनव्वर राना, कहा ‘सियासी बदलेबाज़ी इस मुल्क को ऐसे खा जाएगी जैसे….’

नई दिल्लीः समाजवादी पार्टी के क़द्दावर नेता और यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री आज़म ख़ान बीते कई महीने से जेल में बंद हैं। उनके साथ उनका बेटा अब्दुल्लाह आज़म, और उनकी पत्नि भी जेल में बंद हैं। आज़म ख़ान पर आरोप है कि उन्होंने अपने बेटे का फर्जी जन्मप्रमाण पत्र बनवाकर उसे चुनाव लड़ाया था। हालांकि उनके बेटे की विधानसभा की सदस्यता भी रद्द हो चुकी है। लेकिन इसी आरोप में आज़म परिवार सहित जेल में बंद हैं। अब उनके समर्थन में मशहूर शायर मुनव्वर राना आए हैं।

मुनव्वर राना ने ट्वीट करके कहा है कि आज़म ख़ान को जेल में रखना विधानसभा और संसद दोनों का अपमान है। मुनव्वर राना ने कहा कि ‘आज़म खान और उनके ख़ानदान के साथ आतंकवादियों जैसा सुलूक ना किया जाए। झूठे मुक़दमों में अदालत का वक़्त और किरदार बिगाड़ने वालों को सज़ा दी जाए। वरना सियासी बदलेबाज़ी इस मुल्क को ऐसे खा जाएगी जैसे दीमक किताबों को। उनको जेल में रखना पार्लियामेंट और असेम्बली दोनों की तौहीन है।‘

बता दें कि हाल ही में ख़बर आई थी कि आज़म ख़ान की पत्नि तंज़ीम फातिम जेल में पैर फिसलने के कारण गिर गईं थीं, जिससे उन्हें गंभीर चोट आई थी। अब मुनव्वर राना ने आज़म ख़ान की रिहाई की मांग करके लोगों का ध्यान आज़म ख़ान की तरफ दिलाया है, जो फरवरी के आख़िरी सप्ताह से जेल में बंद हैं।

बता दें कि आज़म ख़ान के ऊपर 80 से भी अधिक मुक़दमे दर्ज हैं। हालांकि आज़म ख़ान इन मुक़दमों को फर्जी और सरकारी भेदभाव की नीयत करार देते हैं। कहीं न कहीं आज़म की बातों में दम भी नज़र आता है, जिसका बड़ा उदाहरण यह है कि उनकी मृत मां के नाम पर भी मुक़दमा दर्ज किया गया है। इतना ही नहीं आज़म ख़ान पर ज़मीन हथियाने से लेकर बकरी चोरी करने, किताबें चोरी करने तक का मुक़दमा दर्ज है।

जानकारी के लिये बता दें कि आज़म ख़ान उत्तर प्रदेश की रामपुर विधानसभा सीट से नौ बार विधायक रहे हैं. वे बहुत कम समय के लिये राज्यसभा के भी सदस्य रहे, लेकिन पिछले साल उन्होंने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी. जिसके बाद उन्होंने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। उनकी पत्नि तंजीम फातिमा भी राज्यसभा की सांसद रहीं हैं, जो अब रामपुर विधानसभा सीट से विधायक भी हैं।