13 हजार करोड़ रुपये को घोटाले को 275 करोड़ रुपये में सेटल कर रही है मोदी जी की सरकार !

0
314

बीते रोज़ इंडियन एक्सप्रेस अख़बार के सूत्रों को मुताबिक नीरव मोदी की बहन पूर्वी मोदी ने पैंडोरा पेपर्स में नाम आने के बाद अपने स्विस बैंक अकाउंट में जमा करीब 275 करोड़ रुपये भारत सरकार को देने की पेशकश की है. कुछ महीने पहले मोदी सरकार ने नीरव मोदी की बहन पूर्वी को पीएनबी के 13500 करोड़ रुपये घोटाले में माफी दे दी गई थी। पूर्वी ने सरकारी गवाह बनते हुए अपने लंदन के खाते से 17.25 करोड़ रुपये ईडी को ट्रांसफर कर दिए थे  पूर्वी मोदी जो अब पूर्वी मेहता है उन्होंने घोटालों से जुड़ी जानकारी एजेंसी को बताने की पेशकश की थी, जिसे कुछ शर्तों के साथ स्वीकार कर लिया गया  इसके बाद ईडी ने पूर्वी मेहता और उसके पति मयंक मेहता को पूछताछ से राहत देने के साथ माफी दे दी थी।

लेकिन आज पता चला है कि स्विस बैंक में जमा रकम इसकी दस गुना से भी अधिक है यह सब बातें पेंडोरा पेपर्स के सामने आने के बाद हुई है। इंडियन एक्सप्रेस ने पेंडोरा पेपर्स की पड़ताल करते हुए 4 अक्टूबर को खुलासा किया था कि जनवरी 2018 में जब नीरव मोदी भारत छोड़कर भागा था, उससे कुछ महीने पहले ही उसकी बहन पूर्वी ने ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड में ब्रुकटन मैनेजमेंट लिमिटेड नाम की कंपनी बनाई थी. ये कंपनी उनकी सिंगापुर स्थित कंपनी के डिपॉज़िट ट्रस्ट के प्रोटेक्टर के तौर पर काम करती थी. यानी वो अपनी सिंगापुर की कंपनी का पैसा इस कंपनी में डायवर्ट करती थीं.

ईडी ने 2018 में नीरव मोदी और उसके पिता दीपक मोदी, बहन पूर्वी मेहता, बहनोई मयंक मेहता, भाई नीशल मोदी और एक दूसरे रिश्तेदार निहाल मोदी सहित 23 लोगों के खिलाफ पीएनबी से जुड़े धोखाधड़ी के मामले में 12,000 पन्नों का आरोप-पत्र दायर किया था।

यानी साफ है कि पूर्वी मेहता को भी आरोपी बनाया गया था, लेकिन अब उसे बचाया जा रहा है जबकि इस बात के पक्के सबूत भी ED के पास है कि कैसे पूर्वी मेहता का सक्रिय सहयोग नीरव मोदी को प्राप्त था, इंडियन एक्सप्रेस’ में एक रिपोर्ट में एक ED अधिकारी के हवाले से बताया गया था कि “वो (पूर्वी) इस स्कैम में कम से कम 963 करोड़ की लाभार्थी हैं. इस स्कैम में मनी लॉन्ड्रिंग की प्रोसेस को कामयाब बनाने के लिए कई तरह की शेल कंपनियां (एक तरह की फर्जी कंपनी) बनाई गई थीं. पूर्वी इन्हीं कुछ शेल कंपनियों की डायरेक्टर या मालकिन हैं.”

बड़ा सवाल यहाँ यह खड़ा होता है कि आखिरकार पूर्वी मोदी पर मोदी सरकार इतनी मेहरबान क्यो है?  दरसअल नीरव मोदी की बहन पूर्वी की शादी मयंक मेहता से हुई है। मयंक जो है वे मोना मेहता के सगे भाई हैं जिनकी शादी रोजी ब्लू के मालिक रसेल मेहता से हुई है। मोना मेहता ओर रसेल मेहता की बेटी श्लोका मेहता मुकेश अम्बानी की बहू है और आकाश अम्बानी की पत्नी है मोना मेहता की चचेरी बहन प्रीति की शादी मेहुल चोकसी से हुई है यानी मुकेश अम्बानी की समधन की चचेरी बहन मेहुल चौकसी की पत्नी है, साफ है कि जो अम्बानी के नजदीक है उसके सात खून माफ है।

(लेखक स्वतंत्र टिप्पणीकार हैं, ये उनके निजी विचार हैं)

Leave a Reply