मौलाना तौक़ीर रज़ा की दो टूक, ‘मुसलमानों से नफ़रत मतलब देश से नफ़रत, और नफ़रत करने वाला देशद्रोही’

0
310

जयपुर:  राजस्थान की राजधानी जयपुर में आयोजित ऑल इंडिया अमन-व-एकता कांफ्रेंस को मौलाना तौक़ीर रज़ा ने संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने प्रधामंत्री मोदी पर जमकर निशाना साधा। मौलाना तौक़ीर रज़ा ने पीएम मोदी की धृतराष्ट्र से तुलना करते हुए कहा कि महाभारत का राजा अंधा था, लेकिन कलयुग का राजा अंधा नहीं है। उन्होंने कहा कि नबी ﷺ की शान में गुस्ताखी करने वालों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है, और हम गिरफ्तारी से पहले मानने वाले नहीं है।

मौलाना तौक़ीर रज़ा ने झारखंड, पश्चिम बंगाल, और उत्तर प्रदेश में शुक्रवार 10 जून को हुई हिंसा के बाद पुलिस की कार्रावाई पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि मुस्लिमों के बच्चो पर गोलियां चलाई जा रही है, जेल भेजा जा रहा है, लेकिन एक को गिरफ्तार नहीं किया जा रहा है। पूरा मुल्क इस अन्याय के ख़िलाफ है।

नबी  का अपमन बर्दाश्त नहीं

मौलाना तौक़ीर रज़ा ने कहा कि रसूल का अपमान बर्दाश्त नहीं है। मस्जिदों के सामने हनुमान चालीसा पढ़ा हमने बर्दाश्त किया। उन्होंने कहा कि मस्जिद के सामने हनुमान चालीसा हनुमान के लिये नहीं बल्कि मुसलमानो को सताने के लिये पढ़ा गया। मस्जिदों के मीनारों पर भगवा पर लहराया, हमने सब्र किया, अल्लाह सब्र करने वालों के साथ, हमने हर जुल्म ज्यादती का बर्दाश्त किया। लेकिन नबी ﷺ का अपमान किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।  

मौलाना तौक़ीर रज़ा ने कहा कि 2014 से पहले जो बम विस्फोट होते थे, लेकिन अब क्यों नहीं फटते, क्योंकि बम मारने वाला हुकूमत में बैठा है। पीएम मोदी से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे देश को पूरे देश को ज़लील मत करो, ग़ैरों की बात मत सुनो, हमारी सुनो, हमने कभी मुस्लिम देशों को नहीं बुलाया आज वो खुद मजबूर, क्योंकि उनके रसूल की शान में गुस्ताखी की गई है।

उन्होंने कहा कि रसूल सिर्फ हिंदुस्तान के नहीं पूरी दुनिया के हैं। असमाजिक तत्वों पर हमलावर होते हुए मौलाना तौक़ीर रज़ा ने कहा मुसलमानों से नफरत करने का मतलब अपने देश से नफरत करना है। हिंदुस्तान की रग-रग में मुसलमान दौड़ता है, मुसलमान की रग-रग में हिंदुस्तान दौड़ता है। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान को मुसलमान से, मुसलमान को हिंदुस्तान से अलग नहीं किया जा सकता। मौलाना तौक़ीर रज़ा ने कहा कि मुसलमानो से नफरत करने वाला देशद्रोही।

उन्होनें कहा हमें अपने मुल्क को बिकने से बचाना है, भाजपा देश को नुकसान पहुंचा रही है। साथ ही उन्होंने मुसलमानों को नसीहत करते हुए कहा कि मुसलमान हो तो मुसलमान नज़र आना जरूरी है, मुसलमानो जैसे आमाल जरूरी हैं। उन्होंने महिलाओं से अपील करते हुए कहा कि कमसिन बच्चों को, मोबाइल चेक करो, लेपटाप चेक करो कहीं वे उसका ग़लत इस्तेमाल तो नहीं कर रहे हैं।

एससी/एसटी को हिंदू के नाम पर प्रोपगेंडेट करने का षड़यंत्र: कुमार काले

इस कांफ्रेंस में बामसेफ के नेता कुमार काल ने एससी/एसटी पर होने वाले अत्याचार का हवाला देते हुए केंद्र एंव राज्य सरकार पर निशाना साधा। कुमार काले ने सिर्फ मुस्लिम नहीं बल्कि एससी,एसटी पर भी अत्याचार हो रहा है। उन्होंने कहा कि एससी/एसटी को हिंदू के नाम पर प्रोपगेंडेट करने का षड़यंत्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि संख्या बल के आधार पर ब्राह्मण वर्ग इस देश का शासक नहीं हो सकता, इसलिये वो नए पैंतरे करके एससी/एसटी को हिंदू के नाम पर प्रोपेगेंडेट कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि शोषित वर्ग को आपस में एकता बनानी होगी, और इसके लिये लगातार काम करने की ज़रूरत है।

एक पर हमला सब पर हमलाः अनीस

इस कांफ्रेंस में आए पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के सेक्रेट्री अनीस अहमदने कहा आए दिन नए-नए इश्यू क्रिएट किये जा रहे हैं। अनीस अहमद ने कहा कि कुछ लोग कहते थे कि बाबरी मस्जिद देने से मामला शांत हो जाएगा। लेकिन मामला सिर्फ एक मस्जिद का नहीं है, मसअला मुसलमानों के संवैधानिक अघिकार का है। अनीस अहमद ने कहा कि संघ परिवार कर रहा हिंदू धर्म का नाम ख़राब कर रहा है, इनका (आरएसएस) का हिंदूओं से कोई मतलब नहीं है।

अनीस अहमद ने कहा कि इस देश की समस्या सिर्फ आरएसएस, और वह संविधान की दुश्मन है। उन्होंने कहा कि जब-जब संविधान पर हमला हुआ है, तब-तब मुसलमानों ने संविधान बचाया है। मुसलमानों ने आरएसएस/भाजपा से कोई कोई समझौता नहीं किया। अनीस अहमद ने कहा कि 25 करोड़ मुसलमानों को मार भी नहीं सकते, भगा भी नहीं सकते इसलिये उनमें खौफ पैदा करने की कोशिश की जा रही है। मुसलमानों की आशा को मारने का षड़यंत्र किया जा रहा है। बुलडोज़र की राजनीति पर उन्होंने कहा कि आज नफ़रत की सियासत नागरिकों के मकानों को गिरा रही है, हमें एकजुटता दिखानी होगी, और बताना होगा किसी के भी घर पर बुलडोज़र जाए तो समझो वह हमारे घर पर आया है। हमें अब रणनीति बनानी होगी कि एक पर हमला, सब पर हमला। उन्होंने मुस्लिम धर्मगुरुओं से भी अपील करते हुए कहा कि वे समाज के अंदर इज्जत और ग़ैरत को बेदार करें।

आदिवासियों को बेदखल करने की कोशिशः केसी घुमरिया

आदिवासी समुदाय से ताअल्लुक रखने वाले केसी घुमरिया ने ऑल इंडिया अमन-व-एकता कांफ्रेंस के मच से कहा कि महंगाई, बेरोजगारी पर बात नहीं हो रही है, और बिना वजह के मुद्दे उछाले जा रहे हैं। उन्होंने देश में बढ़ते नफ़रत के माहौल कहा कि इसे शीर्ष नेतृत्व की मौन स्वीकृति है। केसी घुमरिया ने कहा कि सीएए एनआरसी वास्तव में आदिवासियों के ख़िलाफ है। 20 लाख आदिवासियों को जंगलों से बेदखल करने की कोशिश की जा रही है। केसी घुमरिया ने कहा कि इस माहौल का मुक़ाबला करने के लिये सभी सेक्युलर ताक़तों को एक साथ आना होगा।

ऑल इंडिया अमन-व-एकता कांफ्रेंस का संचालन इस कांफ्रेंस के आयोजक हाफिज़ मंज़ूर ने किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि देश में हर दिन दिन नए-नए मुद्दे खड़े किये जा रहे हैं। इसका मुक़ाबला सिर्फ एकता

Leave a Reply