अमानतुल्लाह खान से मौलाना अरशद मदनी की मुलाक़ात, दिल्ली वक्फ बोर्ड के कार्यों को सराहा

नई दिल्ली: जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने दस दिसंबर को दिल्ली वक्फ बोर्ड का दौरा किया और दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्ला खान से मुलाकात की। इस मुलाकात में जमीयत उलेमा-ए-दिल्ली के अध्यक्ष मुफ्ती अब्दुल रज्जाक भी शामिल थे। बैठक के दौरान मौलाना ने वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष अमानतुल्लाह खान के साथ देश और समाज के वर्तमान हालात और मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की और वक्फ बोर्ड की गतिविधियों से भी रूबरू हुए.

वक्फ बोर्ड की स्थिति के बारे में बताते हुए अमानतुल्लाह खान ने कहा कि हम वक्फ बोर्ड और शिक्षा के क्षेत्र में जरूरतमंद छात्रों के साथ हर संभव तरीके से सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने मौलाना अरशद मदनी को बताया कि वक्फ बोर्ड के अधीन जोगाबाई बाटला हाउस में हाल ही में माध्यमिक विद्यालय शुरू हुआ। मौलाना ने इस पर खुशी ज़ाहिर की। उन्होंने मौलाना मदनी को अपने कार्यकाल के दौरान किए गए विकास कार्यों से भी अवगत कराया और कहा कि पहले केवल कुछ लोगों का स्टाफ था जिसे बढ़ाकर 150 तक कर दिया है। उन्होंने बताया कि ये सभी शिक्षित और पेशेवर कर्मचारी हैं।

इस बीच अध्यक्ष अमानतुल्लाह खान ने मौलाना मदनी को शाही जामा मस्जिद, दिल्ली की जर्जर स्थिति और अन्य ऐतिहासिक मस्जिदों की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया। अमानतुल्ला खान ने मौलाना से कहा कि हम वर्तमान में मस्जिद की जर्जर स्थिति और जरूरतों का विश्लेषण कर रहे हैं। इन ऐतिहासिक मस्जिदों के रखरखाव के प्रयास किए जाने चाहिए। इस दौरान उन्होंने दंगा पीड़ितों के लिए किए गए राहत कार्यों का भी उल्लेख किया गया, और दोनों सम्मानित लोगों द्वारा प्रदान की गई सेवाओं का भी उल्लेख किया गया। देश की संस्थाओं की सराहना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *