ऑस्ट्रेलिया में किंग ख़ान की धूम, ला ट्रोब विश्वविद्यालय ने शाहरुख ख़ान के सम्मान में शुरू की 2 लाख डॉलर की स्कॉलरशिप

0
1725

जब 8 अगस्त 2019 को शाहरुख़ खान ऑस्ट्रेलिया में आयोजित इंडियन फिल्म फेस्टीवल ऑफ मेलबॉर्न में हिस्सा लेने गए थे तो 9 अगस्त को उन्हें ला ट्रोब विश्वविद्यालय ये डॉक्टेरेट ऑफ लेटर्स से सम्मानित किया गया। ला ट्रोब विश्वविद्यालय शाहरुख खान का सम्मान पत्र, डॉक्टर ऑफ लेटर्स के साथ पुरस्कार देने वाला पहला ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय है।

10 अगस्त 2019 को ला ट्रोब यूनिवर्सिटी ने शाहरुख़ खान के सम्मान में ‘Shah Rukh Khan La Trobe University PhD Scholarship’ की घोषणा की थी, सुपरस्टार शाहरुख खान को भारतीय सिनेमा में अपनी उपलब्धियों के अलावा मीर फाउंडेशन के जरिए सुविधाओं से वंचित बच्चों और महिला सशक्तिकरण के लिए उनके सहयोग और प्रयासों की वजह से ये दोनों सम्मान दिए गए थे।

शाहरुख ने अपने पिता मीर ताज मोहम्मद खान के नाम पर इस संस्था ‘मीर फाउंडेशन’ का गठन किया था और इसके माध्यम से महिलाओं को सशक्त बनाने का काम जमीनी स्तर से किया जाता है. इसमें मुख्य रूप से एसिड अटैक से पीड़ित महिलाओं की सहायता की जाती है।

‘Shah Rukh Khan La Trobe University PhD Scholarship’ का उद्देश्य भारतीय महिला शोधकर्ताओं को वर्तमान समय की बढ़ती चुनौतियों के समाधान की तलाश करने में मदद करने के लिए शोध करने को प्रेरित करना है, पिछले 10 वर्षों के भीतर मास्टर्स बाइ रिसर्च डिग्री (या समकक्ष) पूरी करने वाली भारतीय महिला नागरिक ही सफल उम्मीदवार की पात्र होगी।

इसके तहत उम्मीदवार को चार वर्षीय रिसर्च छात्रवृत्ति के तौर पर 2000,000 (AUD) डॉलर की मदद की जाएगी. शोध कार्य को आस्ट्रेलिया के मेलबर्न स्थित ला ट्रोब की अत्याधुनिक सुविधाओं के साथ पूरा करना होगा। इन उम्मीदवारों को विश्वविद्यालय के स्वास्थ्य, खेल, सूचना प्रौद्योगिकी, साइबर सुरक्षा या इंजीनियरिंग के क्षेत्र में प्रमुख विशेषज्ञों के पर्यवेक्षण में अपना शोध कार्य पूरा करने का मौका मिलेगा।

इससे पहले 4 बार शाहरुख को डॉक्टरेट की उपाधि दी जा चुकी है, सबसे पहले उन्हें 2009 में ब्रिटिश यूनिवर्सिटी ऑफ बेडफोर्डशायर ने सम्मानित किया था। इसके बाद उन्हें 2015 में एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी की तरफ से ऑनरेरी डॉक्टरेट की उपाधि दी गई। तीसरी बार उन्हें 2016 में हैदराबाद की मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी के जरिए डॉक्टरेट की मानद उपाधि दी गई। वहीं चौथी बार उन्हें अप्रैल 2019 में लंदन विश्वविद्यालय से एक डॉक्टरेट द्वारा सम्मानित किया गया है।

शाहरुख़ खान ने 20 फ़रवरी 2020 को मुंबई के एक पांच सितारा होटल में आयोजित समारोह में केरल के त्रिचूर इलाके से संबंध रखनेवाली PhD रिसर्च स्कॉलर छात्रा गोपिका कोट्टाथराईल भसी को पहली ‘Shah Rukh Khan La Trobe University PhD Scholarship’ से सम्मानित किया था, जो पशु विज्ञान, इकोलॉजी और मोलिक्यूलर स्टडी के माध्यम से ख़ेती से जुड़ी गतिविधियों में सुधार लाने पर रिसर्च करना चाहती हैं। गोपिका कोट्टाथराईल भसी का चयन 800 भारतीय महिला प्रतियोगियों से किया गया था।