देश

कानपुरः नौशाद पर धर्मांतरण का आरोप लगाने वाली महिला बयानों से पलटी, बोली ‘BJP नेताओं के कहने पर…’

लखनऊः उत्तर प्रदेश की सियासत में इन दिनों धर्मांतरण का मुद्दा गरमाया हुआ है। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव मोर्य जहां धर्मांतरण को ‘षड़यंत्र’ के तहत देख रहे हैं, वहीं ऐसे भी मामले सामने आ रहे हैं, जहां भाजपा और हिंदुवादी संगठनों के दबाव के चलते दो महिलाओं ने धर्मांतरण की शिकायत दर्ज कराई। पहला मामला उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का है, जहां एक सिख महिला ने दो मुस्लिम भाईयों के ख़िलाफ धर्मांतरण कराने की शिकायत कराई लेकिन बाद में वह अपने आरोपों से पलट गई और खुलासा करते हुए कहा कि उसने ऐसा हिंदुवादी संगठनों के दबाव के कारण किया था।

मुजफ्फरनगर के बाद अब कानपुर में भी इसी तरह का मामला सामने आया है। यहां सूबे में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर एक महिला ने आरोप लगाया है कि उसने भाजपा नेताओं की धमकी से डरकर अपने पति के ख़िलाफ धर्मांतरण का मामला दर्ज कराया था। अपने पति के खिलाफ जबरन धर्मांतरण कराने का आरोप लगाकर रिपोर्ट दर्ज कराने वाली महिला अपने बयान से पलट गई है। पीड़ित महिला ने बताया कि उसने मुस्लिम युवक से प्रेम विवाह किया था और इसको लेकर उसे कोई आपत्ति नहीं है।

भाजपा नेताओं ने डराया धमकाया

महिला ने आरोप लगाया कि मोहल्ले के भाजपा नेताओं ने उसे धमकाया और जेल भिजवाने की धमकी दी थी। महिला ने आगे बताया कि उसकी ओर से खुद तहरीर लिखकर पति के खिलाफ फीलखाना थाने में रिपोर्ट दर्ज करवा दी गई। महिला ने यह बयान पुलिस के सामने अपना दर्ज कराया है।

कानपुर की फीलखाना पुलिस अब भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी कर रही है। थाना प्रभारी ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कराने वाली महिला सपना राजपूत ने बताया कि हम खुद थाने नहीं आए थे, मेरे पास भारतीय जनता पार्टी के नेता आए थे। साथ ही ये धमकी दी कि तुम्हारा पति मुसलमान है, इसे भगाओ नहीं तो तुम्हें भी फंसा देंगे। ये बात भारतीय जनता पार्टी के नेता पंकज तिवारी ने कही, तो हम डर गए। लेकिन हमें ये नहीं पता था कि ये लोग हमारे आदमी को ही फंसा देंगे।

महिला ने कहा कि अब हमारे बच्चों को कौन पालेगा और खिलाएगा, मुझे पता था कि मेरा पति मुस्लिम हैं, मेरे बच्चे का खतना नहीं कराया गया है। पंकज तिवारी, संजय मिश्रा और अर्चना समेत कई भाजपा नेताओं ने जबरन रिपोर्ट दर्ज कराई है। हम नहीं चाहते थे कि रिपोर्ट दर्ज हो। महिला ने कहा कि शादी के सात साल हो गए मेरे दो बच्चे पहले पति से और एक नौशाद से हैं। मुझे अपने पति से कोई भी शिकायत नहीं है।