कमाल ख़ान के निधन पर छलका रवीश का दर्द, भारत की पत्रकारिता आज तहज़ीब से वीरान हो गई है।

0
136

रामनाथ गोएनका से लेकर गणेश शंकर विद्यार्थी सम्मान पाने वाले वरिष्ठ पत्रकार कमाल ख़ान का लखनऊ में शुक्रवार सुबह हार्ट अटैक से निधन हो गया। टीवी न्यूज़ की दुनिया में एक लंबे अरसे से काम कर रहे कमाल ख़ान अपनी धारदार रिपोर्टिंग और बेहतरीन टीवी रिपोर्ट्स के लिए जाने जाते थे।

लगभग 30 वर्षों के अनुभव के साथ कमाल ख़ान पिछले काफ़ी समय से लखनऊ में रहते हुए एनडीटीवी के लिए रिपोर्टिंग कर रहे थे। उनके निधन पर सोशल मीडिया पर संवेदना व्यक्त करने वालों की बाढ सी आ गई है। इसी कड़ी में एनडीटीवी के मशहूर पत्रकार रवीश कुमार ने कमाल के लिए अपनी संवेदना व्यक्त कीं हैं। रवीश ने कहा कि भारत की पत्रकारिता आज तहज़ीब से वीरान हो गई है।


रवीश ने ट्वीट कर लिखा कि फिर कोई दूसरा कमाल ख़ान नहीं होगा भारत की पत्रकारिता आज तहज़ीब से वीरान हो गई है। वो लखनऊ आज ख़ाली हो गया जिसकी आवाज़ कमाल ख़ान के शब्दों से खनकती थी। NDTV परिवार आज ग़मगीन है। कमाल के चाहने वाले करोड़ों दर्शकों का दुख ज्वार बन कर उमड़ रहा है। अलविदा कमाल सर।