जोरहाट लिंचिंग मामला: भागने की कोशिश में मारा गया मुख्य आरोपी नीरज दास, जानिए अब तक क्या हुई कार्रवाई

ज़रूर पढ़े

असम के जोरहाट मॉब लिंचिंग मामले का मख्य आरोपी बुधवार सुबह एक दुर्घटना के दौरान मारा गया। पुलिस ने बताया कि हादसा उस वक्त हुआ जब सरगना नीरज दास ने पुलिस वैन से भागने की कोशिश की।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी नीरज और 12 दूसरे को पुलिस ने जोरहाट में मॉब लिंचिंग की घटना में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया था, इस मामले में ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन के नेता अनिमेष भुयान को बेरहमी से पीटा गया था। पुलिस ने बताया कि नीरज दास को एक वैन से ड्रग्स रैकेट को लेकर छानबीन के सिलसिले में ले जा रहे थे।

पुलिस के मुताबिक, इसी दौरान जोरहाट मरियानी सड़क के खरियासुक इलाके में वह पुलिस की चलती कार से छलांग लगा कर भागने लगा, जिस दौरा पुलिस के एस्कॉर्ट कार अनियंत्रित होकर दीवार से जा टकराई जिसके चपेट में आने से नीरज दास को गंभीर अवस्था में जोरहाट मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मुर्दा करार दे दिया।

वही इस दुर्घटना में तीन पुलिसकर्मी भी बुरी तरह घायल हुए हैं, जिन का इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि दुर्घटना इतना जबरदस्त था कि कार बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। ज्ञात हो कि अनिमेष हत्याकांड के बाद ऑल असम छात्र संघ के अलावा विभिन्न दल संगठन हत्याकांड मामले की निष्पक्ष जांच करने की मांग करते हुए सभी आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की थी।

वहीं असम के मुख्यमंत्री ने अनिमेष हत्या मामले में को फर्स्ट ग्रेड अदालत में चलाए जाने की बात कही है. इस हत्या मामले में पुलिस मृत मुख्य आरोपित समेत 12 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. वहीं दूसरी ओर अनिमेष हत्याकांड के मुख्य आरोपी की मौत के बाद जोरहाट में दल संगठन के सदस्यों को जश्न मनाते हुए देखा गया है.

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X