जामिया मिल्लिया इस्लामिया की ‘QS एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग’ हुई और बेहतर, अब एशिया में इतने नंबर पर पहुंचा जामिया

नई दिल्लीः जामिया मिल्लिया इस्लामिया को लंदन की क्यूएस यूनिवर्सिटी रैंकिंग एजेंसी द्वारा निकाली गई ‘क्यूएस एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग -2022 में 186 वां स्थान प्रदान किया गया है, जोकि पिछले साल की 203वीं  रैंक से बहुत बेहतर है। प्रतिष्ठित क्यूएस एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग – 2022, में  687 शीर्ष एशियाई विश्वविद्यालयों को शामिल किया गया है।

विश्वविद्यालय के बेहतर प्रदर्शन से उत्साहित कुलपति प्रो नजमा अख्तर ने कहा कि विश्वविद्यालयों में एनआईआरएफ रैंकिंग में रैंक 10 से 6 रैंक के उल्लेखनीय उछाल के बाद, यह जामिया के लिए एक बड़ी उपलब्धि है, और वह भी महामारी के चुनौतीपूर्ण समय के दौरान।

इस उपलब्धि के लिए सहकर्मियों और कर्मचारियों को बधाई देते हुए उन्होंने कहा, “यह विश्वविद्यालय के लिए बहुत गर्व और संतुष्टि की बात है। यह शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों की कड़ी मेहनत को दर्शाता है, जिसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिल रही है।

क्यूएस एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग -2022 ने रैंकिंग को संकलित करने के लिए 11 प्रमुख संकेतकों का उपयोग किया, जिसमें शामिल हैं। शैक्षणिक प्रतिष्ठा (30%), नियोक्ता प्रतिष्ठा (20%), संकाय / छात्र अनुपात (10%), अंतर्राष्ट्रीय अनुसंधान नेटवर्क (10%), प्रति पेपर उद्धरण (10%), प्रति संकाय पेपर (5%), पीएचडी प्राप्त कर्मचारी (5%) अंतर्राष्ट्रीय संकाय का अनुपात (2.5%), अंतर्राष्ट्रीय छात्रों का अनुपात (2.5%), इनबाउंड एक्सचेंज छात्रों का अनुपात) (2.5%)और आउटबाउंड एक्सचेंज छात्रों का अनुपात (2.5%)

जामिया राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रैंकिंग में सक्रिय रूप से भाग लेता रहा है। कुलपति ने कहा कि “आने वाले वर्षों में जामिया अपनी रैंकिंग में और सुधार करने के अपने प्रयास जारी रखेगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *