देश

देश की अखंडता और एकता की शिल्पकार थी इंदिरा : लल्लू

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने गुरूवार को कहा कि भारत रत्न एवं पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए बलिदान की सर्वोच्च मिसाल पेश की थी। कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में श्रीमती इंदिरा गांधी की जयंती सादगी और उनके विचारों पर चलने के संकल्प के साथ श्रद्धासुमन अर्पित कर संपन्न हुयी। श्री लल्लू ने पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर माल्यार्पण और पुष्पांजलि कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

उन्होने कहा कि श्वेत क्रांति, हरित क्रांति, बैंकों के राष्ट्रीयकरण, 20 सूत्री कार्यक्रमो की शिल्पकार, भारत को परमाणु शक्ति संपन्न राष्ट्र बनाने वाली स्वर्गीय गांधी को बड़े ही कृतज्ञ भाव से सम्पूर्ण राष्ट्र नमन कर रहा है और हमेशा याद करेगा। इन्दिरा समाजवाद औरर धर्मनिरपेक्षता जैसे मूल्यों को संविधान में शामिल करवा कर देश के बहुलतावादी समाज को एक सूत्र में पिरोने और उसके एकीकरण करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी।

पूर्व प्रधानमंत्री ने समाजवाद को संविधान में शामिल करके, जमींदारी उन्मूलन कानून बनाकर गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम को बल प्रदान किया। उनका लोकप्रिय नारा ‘गरीबी हटाओं’ मात्र नारा न होकर इन्हीं कार्यक्रमों का जमीनी क्रियान्वयन था जिसके चलते भारत के वंचित और गरीब गुरबा समाज को बड़ा संबल प्राप्त हुआ।

प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि इंदिरा गाँधी ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण करके जहाँ आम आदमी के धन को सुरक्षित हाथों में पहुँचाने का काम किया था वहीं समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को सशक्त बनाने के प्रयास के साथ देश से राजा-रजवाड़ों को अतिमहत्वपूर्ण मानकर दिए जाने वाले प्रीवीपर्स समाप्त कर देश की जनता में समानता का भाव स्थापित किया।