देश

अमरोहा में 48 दिन से क्वॉरेंटाइन हफ़ीज़ुल्लाह ने हार्ट अटैक से गंवाई जान, दानिश बोले ‘ योगी जी इसके लिए कौन ज़िम्मेदार है?’

नई दिल्लीः अमरोहा में क्वॉरेंटाइन किए गए लोगों में से एक युवक की हार्ट अटैक की वजह से मौत हो गई। इस पर अमरोहा के सांसद कुंवर दानिश  अली ने यूपी सरकार पर निशाना साधा है। दानिश अली ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सवाल किया है कि इसके लिये कौन ज़िम्मेदार है। बता दें कि दानिश अली ने दो दिन पहले ही यूपी के मुख्यमंत्री को एक चिट्ठी लिखी थी, जिसमें उन्होंने मांग की थी कि वे लोग जो 14 दिन से अधिक समय से क्वॉरेंटाइन सेंटर में हैं उन्हें उनके घर भेज दिया जाए। लेकिन सरकार ने इस पर कोई तवज्जो नहीं दी.

ग़ौरतलब है कि यूपी में कई क्वॉरेंटाइन सेंटर में चालीस दिन से भी अधिक समय से लोगों को क्वॉरेंटाइन करके रखा गया है. अमरोहा क्वॉरेंटाइन सेंटर में हार्ट अटैक से जान गंवाने वाले हफ़ीज़ुल्लाह की मौत पर दानिश अली ने यूपी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जो अंदेशा तीन दिन पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर जताया था आख़िरकार वो घटित हो गया! 48 दिन से अमरोहा में क्वॉरेंटाइन लोगों में से एक अम्बेडकरनगर निवासी हफ़ीज़ुल्लाह की हार्ट अटैक से मौत हो गई। इसके लिए कौन ज़िम्मेदार है? आप खुद तह करें।

दानिश अली ने उन मजदूरों का भी वीडियो पोस्ट किया है जो बेबसी की हालत में धूप में तप रहे हैं। दानिश ने लिखा कि मेरे लोकसभा क्षेत्र में अमरोहा ओर हापुड़ जनपद की सीमा पर स्थित बृजघाट गंगा पुल पर दिल्ली दिशा से आ रहे प्रवासी मजदूरों को पुलिस ने रोक दिया सभी मजदूर कल शाम से पड़े हैं. और कुछ मजदूरों का कहना है कि उनको खाने की व्यवस्था तक नहीं हुई बच्चे और वह सब भूखे हैं.

दानिश ने इन मजदूरों की बेबसी बयां करते हुए कहा कि कल वे भूखे थे, आज वे नाराज हैं!  प्रवासी मजदूर सरकार के वाहनों को यह कहते हुए मना कर रहे हैं कि वे ‘आत्मनिर्भर’ हैं और उन्हें अपने गाँवों तक पहुँचने के लिए किसी प्रकार की सहायता की आवश्यकता नहीं है।

Facebook Comments