देश

मांगें नहीं मानी गयीं तो एक नवम्बर से बड़ा आंदोलन करेंगे गुर्जर

जयपुर: राजस्थान में भरतपुर जिले के बयाना तहसील के अड्डा गांव में गुर्जर आरक्षण सहित अन्य मांगों को लेकर हुई महापंचायत में गुर्जर समुदाय ने चेतावनी दी है कि उनकी मांगें नहीं मानी गयीं तो एक नवम्बर से बड़ा आंदोलन शुरु किया जायेगा। गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंस ने महापंचायत में स्पष्ट चेतावनी देते हुए कहा कि अगर सरकार ने राजस्थान में गुर्जरों सहित पांच अन्य पिछड़े वर्गों (एमबीसी) को दिए गए पांच प्रतिशत आरक्षण को संवैधानिक संरक्षण न दिया गया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

इस मांग के अलावा महापंचायत में इससे पहले के आंदोलन के दौरान शहीद हुए लोगों को नौकरी और मुआवजा देने, गुर्जरों के लिए लागू देवनारायण योजना को सही तरीके से लागू करने और गुर्जर आंदोलनकारियों पर दर्ज मामले वापस लेने की भी मांग की गयी। उधर महापंचायत में सभी गुर्जर नेताओं ने फैसला किया है कि वे एक नवम्बर तक कोई आंदोलन नहीं करेंगे। एक नवम्बर को फिर से महापंचायत बुलाई गयी है। इसके बाद मांगें नहीं माने जाने पर फिर से सड़कों और रेलमार्ग पर आंदोलन किया जायेगा।

महापंचायत के बाद सभी गुर्जर नेता घर लौट गये। इससे प्रशासन ने राहत की सांस ली है। इससे पहले कल रात बारह बजे से पूरे सवाई माधोपुर जिले और भरतपुर के कई इलाकों में 24 घंटों के लिये इंटरनेट सेवायें बंद कर दी गयीं जो आज रात बारह बजे से फिर शुरु होने की संभावना है।