किसान नेता राकेश टिकैत बोले, जनता को मुफ्त में राशन नहीं बल्कि रोजगार की जरूरत है, सरकार रोजगार दे

ज़रूर पढ़े

किसान नेता राकेश टिकैत ‘पंचायत आजतक लखनऊ’ के मंच पर एक सवाल के जवाब में कहा कि सरकार जनता को मुफ्त में राशन न दे, बल्कि रोजगार दे। उन्होंने कहा कि इस सरकार ने जनता को ढ़ाई किलो अनाज देकर देश की संस्थाएं बेच दीं, सरकार रोटी को भी तिजौरी में क़ैद करना चाहती थी, लेकिन समय रहते किसान समझ गया और सरकार के ऐजेंडे कामयाब नहीं होने दिया।


राकेश टिकैत ने कहा कि अगला आंदोलन इस बात पर होगा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री किसी पार्टी के लिए काम न करें। बता दें कि राकेश टिकैत लगातार ये आवाज उठा रहे हैं कि प्रधानमंत्री देश के होते हैं, सबके होते हैं, ठीक ऐसे ही मुख्यमंत्री भी सबके होते हैं, वो किसी पार्टी के नहीं होते, इसलिए किसी भी प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री को किसी एक पार्टी के लिए काम नहीं करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि टीचर्स प्रदर्शन कर रहे हैं, बैंककर्मी प्रदर्शन कर रहे हैं, सरकार निजीकरण करने में लगी हुई है। राकेश टिकैत ने कहा कि गुजरात में पुलिस भी निजी हाथों में सौंप दी गई है। सरकार निजीकरण के नाम पर देश की संपत्तियों, संस्थाओं को औने-पौने दाम पर बेच रही है। चार लाख की लागत से बना स्टील प्लांट मात्र 14 हज़ार करोड़ रुपये में बेचने जा रही है।


यूपी विधानसभा चुनाव के जुड़े सवालों पर राकेश टिकैत ने कहा कि राजनीतिक दलों को वोट चाहिए होता है, सबको वोट की तलाश है। हम पार्टियों पर निगाह रख रहे हैं कि कौन क्या कर रहा है, क्या घोषणा ला रहा है।  इसी बीच जब उनसे सत्ताधारी बीजेपी के खिलाफ आवाज उठाने का सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि हमारा मामला किसी पार्टी से नहीं है, हमारा विरोध सरकार से है। किसी भी सरकार की गलत पॉलिसी आएगी तो हम उसका विरोध करेंगे।

नए आंदोलन पर टिकैत ने क्या कहा

राकेश टिकैत ने कहा, ”एक पार्टी के लिए कोई भी प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री काम नहीं करेगा, आने वाला आंदोलन यही होगा। ये एक नई बहस देश में शुरू होगी। कोई भी मुख्यमंत्री किसी एक पार्टी के बैनर पर न जाए। ये शुरू कराएंगे हम, चुनाव होने दीजिए अब इसी पर आंदोलन होगा। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री सबके होते हैं, उनके मंच पर एक पार्टी का झंडा नहीं होगा, बल्कि राष्ट्रीय ध्वज होना चाहिए।”

 

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X