ENG ने रचा इतिहास, टूटा 144 साल का बड़ा रिकॉर्ड, वर्ल्डकप जीत भारत का ये सुनहरा रिकॉर्ड तोड़ा

आस्ट्रेलिया में आयोजित आठवें टी20 विश्वकप का फाइनल मुकाबला मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच खेला गया. इस मैच में इंग्लैंड ने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराकर दूसरी बार टी20 विश्वकप अपने नाम कर लिया. पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट खोकर 137 रन बनाए. इसके जवाब में इंग्लैंड ने 19 ओवर में 5 विकेट शेष रहते हुए मुकाबला जीत लिया.

मैच में पाकिस्तानी बल्लेबाज शुरू से ही दबाव में दिखे, मसूद (36), बाबर (32) के अलावा कोई भी बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल सका. रिजवान ने 15 और शादाब 20 रन बनाए.

इंग्लैंड के लिए कुरैन ने तीन विकेट लिए. दो-दो विकेट राशिद और जॉर्डन को मिले. वहीं एक विकेट स्टोक्स को मिला.

पाकिस्तान के 137 रनो के जवाब में इंग्लैंड ने 19 ओवर में 5 विकेट शेष रहते हुए जीत हासिल की. इस दौरान बेन स्टोक्स ने नाबाद 52 रन की पारी खेली. कप्तान बटलर ने 26, ब्रूक ने 20 और मोईऩ अली ने 19 रन बनाए.

Image

मैच में बने ये रिकॉर्ड
इंग्लैंड ने इस जीत के साथ ही पाकिस्तान के साथ 30 साल पुराना हिसाब चुकता कर दिया. 1992 में खेले गए वर्ल्डकप के फाइनल पाकिस्तान ने इंग्लैंड को हराकर खिताब जीता था.

वहीं पिछले 12 सालों में इंग्लैंड की यह तीसरी खिताबी जीत है. इससे पहले 2010 टी20 विश्वकप में उसने ऑस्ट्रेलिया, 2019 वनडे विश्वकप के फाइनल में न्यूजीलैंड को शिकस्त दी थी.

इंग्लैंड 144 साल के इतिहास में ऐसी पहली क्रिकेट टीम है जिसने तीन 12 साल के अंतराल पर तीन और तीन साल के अंतराल पर दो विश्वकप जीते हैं.

इंग्लैंड ने दूसरी बार टी20 विश्वकप जीता. वह वेस्टइंडीज के बाद ऐसी दूसरी टीम बन गई है. जिसने दो बार यह टूर्नामेंट जीता है.

इंग्लैंड ने भारत का एक खास रिकॉर्ड भी तोड़ दिया. दरअसल टीम इंडिया के नाम 4 साल से कम समय के अंदर दो अलग-अलग प्रारूप के विश्वकप जीतने का रिकॉर्ड है. भारत ने सितंबर 2007 में टी20 और अप्रैल 2011 में वनडे विश्वकप जीता था. इंग्लैंड ने यह कारनामा 3 साल के अंदर दोहराया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *