देश

स्मार्ट मीटर के बहाने ग़रीब जनता को लूट रही हैं बिजली कंपनियां, सरकार नहीं लेती एक्शनः ललन कुमार

लखनऊः यूपी कांग्रेस के मीडिया संयोजक ललन कुमार बख्शी का तालाब विधानसाभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में जनसंपर्क कर लोगों की समस्या सुन रहे हैं। इसी कड़ी में आज वे बख्शी का तालाब के ग्राम डेरवां पहुंचे जहां उन्होने किसानों की समस्या सुनीं। इस दौरान ललन कुमार ने कहा कि किसानों की फसल के लिये यूरिया नहीं हैं। यूरिया की समस्या, सिंचाई के लिए बिजली की आपूर्ति एवं महंगाई तथा डीज़ल के बढ़ते दामों ने ग़रीब किसान की कमर तोड़कर रख दी है।

ललन कुमार ने कहा कि स्मार्ट मीटर के नाम पर योगी सरकार ने लूट मचाई हुई है। बिजली कंपनी वाले मनमनाने ढ़ंग से बिजली का वसूल रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्मार्ट मीटर की समस्या किसी एक क्षेत्र विशेष की नहीं है बल्कि पूरे देश में यही हाल है। उन्होंने कहा कि सरकार जनता के हित के लिये होती है, लेकिन यह सरकार सिर्फ पूंजीपतियों का ही हित देखती है, आम जनता से इसे कोई सरोकार नहीं है।

बख्शी का तालाब क्षेत्र में जनता की समस्या सुनते ललन कुमार

कांग्रेस के मीडिया संजोयक ललन कुमार ने कहा कि उन्हें ग्रामवासियों ने विस्तृत रूप से अपनी समस्याओं से अवगत कराया, मैंने उन्हें विश्वास दिलाया कि उनकी समस्याओं को लेकर प्रशासन का दरवाजा खटखटाऊंगा या अपने स्तर पर ही उनका निस्तारण करूंगा। ललन कुमार ने कहा कि प्रदेश की राजधानी लखनऊ से ही सटे हुए बख्शी का तालाब विधानसभा क्षेत्र में विकास का कोई कार्य नहीं हो पाया है। ग्रामीण क्षेत्र की हालात लगातार बदतर होती जा रही है।

उन्होंने बताया कि सड़कों की हालत ख़राब है, किसानों की हालत ख़राब है, स्मार्ट मीटर के नाम पर बिजली कंपनियां जनता को ठग रहीं हैं। उन्होंने कहा कि जनता पूरी तरह त्रस्त है। ललन कुमार ने यूपी के हालात पर भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने प्रदेश में बिगड़ी क़ानून व्यवस्था पर तो सवाल उठाया ही है। इसी के साथ उन्होंने नोएडा की उस घटना पर भी प्रतिक्रिया दी है जिसमें पुलिसकर्मियों द्वारा सफाईकर्मियों पर लाठियां बरसाईँ गईँ हैं।

बख्शी का तालाब क्षेत्र में जनसंपर्क करते ललन कुमार

ललन ने कहा कि यूपी पुलिस महीनों से अटके वेतन की माँग कर रहे सफाईकर्मियों पर लाठियां बरसा रही है। ये वही सफाईकर्मी हैं जिनके पैर धोने का ढकोसला हमारे पीएम ने किया था। पैर धोकर इनकी समस्या का समाधान नहीं होगा, अगर आपमें हिम्मत हैं तो इनकी मांगों को मानिए, इन पर लाठी चलाने वालो को बर्खास्त कीजिए।