शाहीनबाग़ में बोले DPCC अध्यक्ष चौधरी अनिल बोले, ‘केजरीवाल की सोच बदली, चरित्र बदला, व्यवहार बदला और…’

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार के नेतृत्व में आज पटपड़गंज जिला की ओखला विधानसभा में अल-हबीब मस्जिद, 40 फुटा रोड़, शाहीन बाग, ओखला से जन जागरण अभियान में आम आदमी पार्टी और भाजपा की सरकारों द्वारा राजधानी में भ्रष्टाचार युक्त कुप्रशासन में जनविरोधी नीतियां थोपकर लोगों के जीवन बदहाल बनाने के लिए जिम्मेदार दोनो सरकारां के खिलाफ पोल खोल यात्रा निकाली गई। यात्रा में हजारों कांग्रेस कार्यकर्ता हाथों में पार्टी के झंडे लेकर भाजपा और आप पार्टी विरोधी नारे लगा रहे थे। महंगाई और व्यवस्थाओं की कमी से ओखला की बदहाली से त्रस्त महिलाऐं भी बड़ी संख्या में यात्रा में शामिल हुई।

ज्ञातव्य है कि दिल्ली कांग्रेस 70 विधानसभाओं के 272 वार्डो में 700 किलोमीटर की जन जागरण अभियान के अंतर्गत पैदल यात्रा निकाल रही है जिसमें कांग्रेस की विचारधारा और नीतियों का जनता के बीच प्रचार प्रसार भी किया जाएगा। जन जागरण अभियान में प्रदेश अध्यक्ष चौधरी अनिल भारद्वाज, पूर्व केन्द्रीय कानून मंत्री श्री सलमान खुर्शीद, प्रदेश महिला अध्यक्ष अमृता धवन, पूर्व विधायक शीशपाल, प्रदेश उपाध्यक्ष अली मेंहदी, मीडिया कमेटी के उपाध्यक्ष परवेज आलम, जिला अध्यक्ष दिनेश कुमार एडवोकेट, महेन्द्र मंगला, अब्दुल हनन, धीरज बसौया, अनिल मित्तर,  सहित हजारां की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी शामिल थे।

चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि अल्पसंख्यक बहुल ओखला विधानसभा के भावुक लोगों ने आम आदमी पार्टी की झोली में निगम सहित विधानसभा की सीट भी डाल दी परंतु आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल की अवसरवादी सोच के कारण उनके निर्वाचित प्रतिनिधियों ने ओखला के लोगों को धोखा दिया है। उन्हांने कहा कि ओखला की संर्कीण गलियों में हर जगह गंदगी के ढेर लगे है, भरी हुई नालियां, सीवर उबल रहे है और सड़के टूटी पड़ी है जिसके लिए भाजपा शासित निगम और केजरीवाल सरकार जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि पिछले 7 वर्षों में दिल्ली की केजरीवाल सरकार और 15 वर्षों में निगम में शासित भाजपा ने दिल्ली के गरीब, मजदूरों, निम्न वर्ग के लोगों को गुमराह करने के सिवाय कुछ नही किया है और अब केजरीवाल दिल्ली छोड़ चुनावी उदेश्यों की पूर्ति के लिए पंजाब, उत्तराखंड़, गोवा, उत्तर प्रदेश में लोगों को गुमराह करने के लिए अनाप-शनाप घोषणाऐं कर रहे है, उनकी वास्तविकताओं और उन्हें लागू करने से केजरीवाल को कोई लेना देना नही है।

चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि 2013 के बाद सत्ता में आने वाले अरविन्द केजरीवाल सर्वधर्म, जन लोकपाल, रोजगार देने, भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन और विकास की बात करते थे, परंतु राजधानी में पिछले 7 वर्षों में कुछ नही बदला। अगर बदला  तो केजरीवाल की सोच बदली, चरित्र बदला है, व्यवहार बदला, काम बदला और उनकी कार्यशैली बदली। उन्होंने कहा कि केजरीवाल की कार्यशैली के कारण ही राजधानी मंहगाई, प्रदूषण, गंदगी, झूठे प्रचार, महिला उत्पीड़न, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार, नशे की राजधानी कोविड संक्रमण, कोविड मौतो में नम्बर वन गई। दिल्ली वालों को सुहाने सपने दिखाने के बाद केजरीवाल ने उन्हें धोखा दिया है और अब उत्तराखंड, पंजाब, गोवा, उत्तर प्रदेश के लोगां के साथ भी वही खेल खेल रहे है।

 

चौधरी अनिल कुमार ने कहा कि भाजपा और आम आदमी पार्टी ने हमेशा अल्पसंख्यक समुदाय की उपेक्षा की है। उन्होंने कहा कि अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है और मैं यहां बैठी माता बहनों का सम्मान करता हूं जिन्होंने अन्य धर्मा के लोगों के बराबरी के समानता के अधिकारों के लिए एनआरसी-सीएए के खिलाफ आंदोलन किया। उन्होंने कहा कि ओखला के शाहीन बाग के आंदोलन के समय मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल का संघीय चेहरा साफ उजागर हो गया था जब उन्हांने कहा कि हमें एक बार अधिकार मिल जाएं हम तुरंत शाहीन बाग के आंदोलन को खत्म कर देंगे। यह पूरी दिल्ली जानती है कि जामिया मीडिया में लाईब्रेरी में पुलिस ने छात्रों को बर्बरता से पीटा था और केजरीवाल चुप्पी साधे रहे। उन्होंने कहा कि केजरीवाल अवसर का प्रयोग करने वाले व्यक्ति हैं उन्हें जनता के प्रति कोई संवेदनशीलता नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *