अदालत में जीते जोकोविच, तत्काल रिहा करने का आदेश देकर बोला कोर्ट ऑस्ट्रेलियाई सरकार का आदेश तुरंत रद्द किया जाए

मेलबोर्न: दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच को ऑस्ट्रेलिया की एक अदालत से सोमवार को बड़ी राहत मिली। न्यायाधीशों ने ऑस्ट्रेलिया सरकार के जोकोविच के वीजा रद्द करने के फैसले को तुरंत रद्द करने और उन्हें अप्रवासी डिटेंशन सेंटर से तत्काल रिहा करने काआदेश दिया।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक न्यायाधीश एंथनी केली ने फैसला सुनाया कि जोकोविच का वीजा रद्द करने का ऑस्ट्रेलियाई सरकार का आदेश तुरंत रद्द किया जाए, जिसका मतलब है कि वह अब ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश कर सकते हैं। जोकोविच के वकीलों की ओर से अदालत में जमा किए गए दस्तावेजों में कहा गया है कि ऑस्ट्रेलिया यात्रा से पहले टेनिस ऑस्ट्रेलिया के दो पैनलों ने 30 दिसंबर को जोकोविच को वैक्सीन में छूट दी थी। यही संस्था ऑस्ट्रेलिया और विक्टोरिया में टेनिस टूर्नामेंटों का संचालन करती है।

जोकोविच के अधिवक्ताओं ने कहा कि उन्हें बताया गया था कि 16 दिसंबर को कोरोना से संक्रमित होने के बाद भी जोकोविच ऑस्ट्रेलिया में दाखिल हो सकते हैं। उनसे यह भी कहा गया था कि वह यह मान सकते हैं कि उन्हें ऑस्ट्रेलियाई ओपन में खेलने दिया जाएगा।

उधर ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने सुनवाई से पहले इस मामले में टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन उन्होंने फिर से इस बात पर जोर दिया कि नियम नियम हैं और यह सभी के लिए हैं।

प्रधानमंत्री ने सीएनएन से बातचीत के दौरान कहा, “ संघीय सरकार की ओर से नवंबर में टेनिस ऑस्ट्रेलिया को सलाह दी गई थी, जो एक दम स्पष्ट थी और मैंने इसका निष्कर्ष पढ़ा था, सलाह इससे अधिक स्पष्ट नहीं हो सकती। ”

उल्लेखनीय है कि बीते हफ्ते ऑस्ट्रेलियन ओपन टेनिस टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए ऑस्ट्रेलिया पहुंचे सर्बियाई टेनिस खिलाड़ी जोकोविच का कोरोना वैक्सीनेशन न होने के कारण वीजा रद्द कर दिया गया था और उन्हें अस्थायी रूप से हिरासत में लेकर मेलबोर्न में एक अप्रवासी डिटेंशन होटल में भेज दिया गया था। जोकोविच ने ऑस्ट्रेलिया सरकार के इस फैसले को बाद में कोर्ट में चुनौती दी थी।

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक जोकोविच 16 दिसंबर 2021 को कोरोना संक्रमित पाए गए थे जिसे दो स्वतंत्र पैनल जोकोविच के वैक्सीन लगाने की आवश्यकता में हुई देरी के लिए पर्याप्त कारण मानते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *