मौलाना महमूद मदनी की मांग, ‘उपद्रवियों पर जैसी कार्रावाई बंगलादेश में हुई त्रिपुरा के उपद्रवियों के ख़िलाफ भी वैसा ही कार्रावाई करे सरकार’

0
334

नई दिल्ली: जमीअत उलमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को पत्र लिखकर त्रिपुरा में मुसलमानों के धार्मिक स्थलों, घरों पर हुए हमले, आगजनी तथा मुस्लिम विरोधी नारे लगाने पर गहरी चिंता ज़ाहिर की है। मौलाना मदनी ने ऐसे असमाजिक तत्वों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग क है।  मौलाना मदनी ने अपने पत्र में लिखा है कि मुख्यमंत्री के रूप में अल्पसंख्यकों की जिंदगी, संपत्ति की सुरक्षा सुनिश्चित करना और बांग्लादेश में हिंसा के लिए जिम्मेदार हिंसक तत्वों पर नकेल कसना उनका संवैधानिक कर्तव्य है।

मौलाना मदनी ने गृह मंत्री से भी इस घटना की निंदा करने और इसमें शामिल उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बंग्लादेश में जो कुछ भी हुआ, भारत और दुनिया के सभी वर्गों ने इसकी निंदा की, बांग्लादेश के प्रधान मंत्री ने स्पष्ट रूप से दंगाईयों के खिलाफ कार्रवाई की, उसी तरह त्रिपुरा की घटनाओं पर भारत सरकार में बैठे अधिकारियों को हमें एक स्टैंड लेना होगा, इससे संप्रदायों का मनोबल गिरेगा।

मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि कि सांप्रदायिकता को इस बात से भी प्रोत्साहन मिलता है कि देश का केंद्रीय नेतृत्व इन घटनाओं पर चुप रहा, जिसने भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और बदनाम किया और क्षेत्र में उसकी नेतृत्व भूमिका को कलंकित किया। मौलाना मदनी ने कहा कि यह याद रखना चाहिए कि दो गलत कामों को एक साथ ठीक नहीं किया जा सकता है, इसलिए मैं देश के सभी वर्गों से अपील करता हूं कि कानून व्यवस्था बनाए रखें और हर संभव हिंसा करने वालों बहिष्कार करें, उनके ख़िलाफ सख्त कार्रावाई की मांग करें।

बता दें कि जमीअत उलमा त्रिपुरा के अध्यक्ष मुफ्ती अब्दुल मोमीन ने जमीअत उलमा-ए-हिंद के प्रधान कार्यालय को त्रिपुरा की स्थिति पर एक विस्तृत पत्र भेजा है, जिसमें कहा गया है कि त्रिपुरा में 12 मस्जिदों पर हमला किया गया है और आग लगा दी गई है। गोमती जिले के महारानी निर्वाचन क्षेत्र में चार मस्जिदों सहित कुछ मस्जिदों पर भी भगवा झंडे फहराए गए हैं, और यहां पर वीएचपी कार्यकर्ताओं ने बाजार में मुस्लिम विरोधी नारे लगाए।

इसी तरह दरगाह बाजार में टिन से बनी एक मस्जिद को भी आग लगा दी गई। अगरतला की कृष्णा नगर मस्जिद, चंद्रपुर मस्जिद, कैलाशहर मस्जिद, राता चारा मस्जिद, धरम नगर जिला उत्तर त्रिपुरा मस्जिद में तोड़फोड़ की गई और आग लगा दी गई। अगरतला में एक संयुक्त शांति यात्रा भी आयोजित की गई है। जमीअत उलमा-ए-हिंद के महासचवि मौलाना हकीमुद्दीन कासमी लगातार सूबे के जमीअत उलमा के संपर्क में है. जमीअत उलमा-ए-काला शहर इकाई ने प्रशासन से मुलाकात कर मस्जिद के जीर्णोद्धार और पुनर्निर्माण की मांग की है।

Leave a Reply