काशी से काबा हज यात्रा सेवा बहाल किए जाने की मांग

मऊ: वैश्विक महामारी कोरोना कोविड के चलते रूकी हज यात्रा के शुरू करने की मांग उठने लगी है। ऑल इंडिया आज सेवा समिति के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष हाफ़िज़ नौशाद अहमद आज़मी ने शासन को पत्र लिखते हुए मांग किया है कि जल्द से जल्द सरकार द्वारा हज एक्शन प्लान पूर्ण कर आवाम के बीच कार्यक्रम की घोषणा की जाए जिससे लोग हज यात्रा कर सकें।

हाफ़िज़ नौशाद अहमद आज़मी ने सोमवार को यूनीवार्ता से बातचीत में कहा कि उन्होंने पिछले दिनो प्रधानमंत्री के साथ ही मोहम्मद याकूब शेखा मुख्य कार्यकारी अधिकारी, भारतीय हज समिति, मुंबई को पत्र लिखकर इस वर्ष हज यात्रा शुरू कराए जाने व उसके लिए निर्धारित गाइडलाइन को सार्वजनिक करने की मांग की गई। जिससे यात्री अपनी यात्रा के बाबत तैयारी कर सकें।

उन्होंने बताया कि वर्ष 2007 में केंद्रीय उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल द्वारा हम लोगों की मांग पर ‘काशी से काबा’ हज यात्रियों के लिए सीधी उड़ान सेवा मुहैया कराई गई थी जो वर्तमान में बंद कर दी गई। ऐसे में पूर्वांचल के कुछ जनपदों से जाने वाले 5000 हज यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनके मांग पर वर्ष 2005 में हज यात्रियों के लिए तीन लाख का दुर्घटना बीमा स्वीकृत हुआ था। जो अब तक यथावत बना हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में महंगाई व अन्य स्थिति को देखते हुए हज यात्रियों का 10 लाख रूपये का बीमा करवाया जाना नितांत आवश्यक है।

हाफ़िज़ नौशाद अहमद आज़मी ने मांग की है कि वर्तमान में कोविद -19 स्थिति में बहुत सुधार हुआ है। वैक्सीन की उपलब्धता के कारण लोग दिन-ब-दिन टीका लगवा रहे हैं। इससे हज करने की इच्छा बढ़ी है, जिसके परिणामस्वरूप वे हज-2022 की कार्य योजना जानना चाहते हैं। इस संबंध में सरकार से एक परिपत्र जारी करने का अनुरोध किया जाता है, ताकि लोगों को हज प्रक्रिया के लिए खुद को तैयार करने के लिए समय सीमा, दिशा-निर्देश और टीकाकरण/स्वास्थ्य सलाह के बारे में पता चले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *