Ravan
देश

चंद्रशेखर आज़ाद बोले ‘रामराज्य में दलित न तो पढ़ा सकता है और न ही पढ़ सकता है।’

नई दिल्लीः आज़ाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद ने योगी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर हमला बोला है। चंद्रशेखर ने कहा है कि रामराज्य में दलित न तो पढ़ा सकता है और न ही पढ़ सकता है। आज़ाद समाज पार्टी के सुप्रीमो ने यह बातें उस ख़बर पर प्रतिक्रिया देते हुए कही हैं जिसमें एससी, एसटी को ज़ीरो फीस पर एडमिशन देने से मना कर दिया गया है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने बहुत ही शर्मनाक फैसला लिया है कि अब SC/ST छात्र निशुल्क फीस ने B.Ed. नहीं कर सकते हैं। सच है कि रामराज्य में दलित न तो पढ़ा सकता है और न ही पढ़ सकता है। हक की लड़ाई हेतु अब दलितों को जागना होगा।

उन्होंने हरियाणा के कुरुक्षेत्र में किसानों पर हुए लाठीचार्ज पर भी प्रतिक्रिया दी है। चंद्रशेखर  ने कहा कि हरियाणा के कुरुक्षेत्र में अन्नदाता किसानों पर लाठीचार्ज निंदनीय है। मोदी जी सिर्फ अपने मन की बात सुनाते है. लेकिन किसान,छात्र,मजदूरों के मन की बात वो सुनना नही चाहते, यदि किसान आंदोलन करके अपना विरोध जताये तो उनको लाठियां मारी जा रही है. भाजपा सरकार को शर्म आनी चाहिए।

चंद्रशेखर ने दलित उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं पर कहा कि मध्यप्रदेश, इंदौर के चटवाड़ा गांव में सवर्णों ने एक दलित महिला की लाश को नहीं जलने दिया। दलित समाज 07 घण्टे तक धरने पर बैठा रहा पर कोई असर नहीं। महिला को देवी मानने वाले देश का सच देखिए। लाश से इतनी नफरत तो जिंदा दलितों से कितनी नफरत करते होंगे? जाति मरने के बाद भी नहीं जाती।

उत्तर प्रदेश के इटावा में हुई दलित उत्पीड़न की घटना पर चंद्रशेखर ने कहा कि इटावा, बाकेवर थानाक्षेत्र में प्रदीप एवं शशांक तिवारी ने एक दलित लड़की का गैंगरेप किया। बयान दर्ज करने के बहाने थाने में बुलाकर पीड़िता के परिवार को पीटा गया। पीड़िता का बयान बदल दिया गया। शर्मनाक। आरोपियों एवं सीओ, एसओ को तत्काल अरेस्ट किया जाए।