ब्राजील के उपराष्ट्रपति ने ब्रिटिश पत्रकार की मौत को बताया ‘संपार्श्विक क्षति’

0
31

ब्रासीलिया: ब्राजील के उपराष्ट्रपति हैमिल्टन मौराओ ने कहा कि ब्रिटिश पत्रकार डोम फिलिप्स की उनके साथी स्वदेशी कार्यकर्ता ब्रूनो परेरा पर हमले के दौरान हुई मौत ‘संपार्श्विक क्षति’ है। द गार्जियन ने श्री मौराओ के हवाले से कहा कि उनका मानना ​​​​है कि फिलिप्स की मृत्यु इसलिए हो गयी क्योंकि वह हत्यारों के मुख्य लक्ष्य परेरा के साथ था। उन्होंने कहा,“अगर किसी ने इस अपराध का आदेश दिया है, तो वह इस क्षेत्र का एक व्यवसायी है जो मुख्य रूप से ब्रूनो की कार्रवाई से दुख्री था और डोम बेवजह इस लपेटे में मारा गया और यह एक संपार्श्विक क्षति है।”

उन्होंने कहा कि यह एक अपराध है, यह कुछ ऐसा था जो एक क्षण में हो गया, साथ ही यह घात लगाकर किये गये हमले की तरह है। कुछ ऐसा है जो कुछ समय से पक रहा था। उन्होंने कहा कि मेरे अनुमान के अनुसार यह रविवार को हुआ होगा। बड़े शहरों के बाहर गरीब इलाकों में रविवार और शनिवार को लोग लोग शराब पीते हैं, नशे में धुत हो जाते हैं ।

उपराष्ट्रपति ने सोमवार को कहा कि ब्राजील के बड़े शहरों में भी, हर सप्ताहांत लोगों को चाकुओं से मारा जाता है, गोलियों से मारा जाता है और आमतौर पर यह किसका परिणाम होता है? और यहां भी यहीं हुआ होगा। स्वदेशी लोगों के यूनिवाजा समूह ने मौराव की आलोचना की है क्योंकि उनकी टिप्पणी फिलिप्स और स्थानीय समुदायों के प्रति अपमानजनक थी।

द गार्जियन के अनुसार, हालांकि पुलिस ने कहा है कि हत्यारों ने अकेले काम किया। यूनिवाजा का मानना ​​​​है कि अपराध के पीछे कई लोगों के हित जुड़े हुये है।

इस बीच, एक पुलिस पुनर्निर्माण वीडियो प्रसारण में , तीन लोगों में से एक को यह कहते सुना जा सकता है कि उन्होंने पश्चिमी ब्राजील में एक नदी के किनारे दोनों को गोली मारने के बाद शवों को जलाने की कोशिश की थी। ऐसा नहीं हो सका। इसके बाद आरोपी अगले दिन लौटे और उन्हें दफना दिया। इसके बाद पुलिस ने 15 जून को शवों को बरामद कर लिया।

सैनी.संजय