भाजपा और आम आदमी पार्टी को दिल्लीवासियों से आर्शीवाद नही माफी मांगनी चाहिए: कांग्रेस

ज़रूर पढ़े

नई दिल्ली: दिल्ली प्रदेश कांग्रेस भाजपा की जन-आर्शीवाद यात्रा और आम आदमी पार्टी की तिरंगा यात्रा के खिलाफ लगातार पिछले 16 अगस्त से प्रेस वार्ता के जरिए भाजपा और केजरीवाल प्रशासनिक नाकामियों और कुप्रबंधित व्यवस्था को उजागर करके दोनो पार्टियों को सलाह दी कि इन्हें प्रायश्चित यात्रा निकालनी चाहिए। प्रदेश कार्यालय मे आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह बयान आज उत्तरी निगम में कांग्रेस नेता मुकेश गोयल और पूर्व मेयर फरहाद सूरी ने दिया। प्रेसवार्ता में  परवेज आलम भी मौजूद थे।

मुकेश गोयल ने कहा कि कि जन-आर्शीवाद यात्रा और तिरंगा यात्रा के खिलाफ प्रदेश अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने जहां झुग्गी वहीं मकान की तर्ज पर झुग्गीवासियों को मकान, बेरोजगारी तथा कोरोना महामारी पर नियंत्रण करने में केन्द्र और दिल्ली सरकार की विफलताओं को उजागर किया। उन्होंने कहा कि केन्द्र और दिल्ली सरकार कोविड नियंत्रण में पूरी तरह विफल रहने और  बेरोजगारी, भुखमरी और बेकाबू कमरतोड़ मंहगाई पर दिल्ली की जनता से आर्शीवाद मांग रही है, परंतु आने वाले निगम चुनाव में अपना कैसा आर्शीवाद देगी भाजपा के कुशासन के बाद यह मालूम पड़ रहा है।

फरहाद सूरी ने कहा कि दिल्ली की जनता ने भाजपा को लगातार तीन बार निगम की सत्ता में बैठाकर आर्शीवाद दिया है परंतु भाजपा ने 15 वर्षों में भ्रष्टाचार करके तीनों को कंगाल बना दिया। उन्होंने कहा कि सैंकड़ों करोड़ के नावल्टी सिनेमा को 34.59 करोड़ में बेचने का एक मामला नही बल्कि ऐसी 11 प्रापर्टी है जिसमें इन्होंने हजारों करोड़ की जमीन को 744.18 करोड़ में अपने नजदीकियों को बेच डाली है। उन्होंने कहा कि क्या भाजपा निगम की सरकारी प्रापर्टी को बेचने में भ्रष्टाचार करके दिल्ली के लोगों से आर्शीवाद मांग रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने टाउन हॉल तक को हेरिटेज होटल बनाकर लीज पर दे दिया है। भाजपा राजस्व अर्जित करने की जगह निगम की प्रापर्टियों को बेचकर या लीज पर देकर अपनी आर्थिक कमियों को छिपाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि राजस्व की कमी और आर्थिक भष्टाचार में डूबी तीनों निगमों को तुरंत भंग किया जाये।

मुकेश गोयल और  फरहाद सूरी ने कहा कि भाजपा -केजरीवाल भ्रष्टाचार की मिसाल बन गए है। दिल्ली सरकार और निगमों में भ्रष्टाचार भरपूर है। उन्होंने कहा कि दक्षिणी नगर निगम के अतिरिक्त एजुकेशन निदेशक को 2 लाख रिश्वत के साथ रंगे हाथ पकड़ा। निगमों में कूड़ा हटाने वाली ट्रॉमल मशीन 8.5 करोड़ में खरीदने की बजाय किराए पर लेने का 180 करोड़ का भ्रष्टाचार हुआ है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भाजपा और आप पार्टी नालों की सफाई पर सैंकड़ो करोड़ों का भ्रष्टाचार प्रतिवर्ष करते है जबकि 70 प्रतिशत नाले दिल्ली सरकार और 30 प्रतिशत नाले निगमों के है। उन्होंने कहा कि क्या भाजपा और दिल्ली सरकार भ्रष्टाचार के कारण दिल्ली का विकास नही कर पाए है इसलिए जनता से आर्शीवाद मांग रहे है।

दोनो नेताओं ने कहा कि दिल्ली सरकार और भाजपा शासित तीनों निगमों में भ्रष्टाचार और कुप्रबंधन के कारण कर्मचारियों को वेतन सही समय पर नही मिलना  जिसके कारण उन्हें कई बार हड़ताल पर जाना पड़ा। उन्हांने कहा कि दिल्ली सरकार और निगमों का ऐसा कोई विभाग नही जहां भ्रष्टाचार न हो। दोनो सरकार की आपसी मिली भगत से सरकारी राजस्व तो घटता जा रहा है और इनके नेताओं की जमाराशि बढ़ती जा रही है। प्रतिवर्ष टैक्सों में बढ़ोतरी करके भाजपा दिल्ली के लोगों पर अतिरिक्त बौझ प्रतिवर्ष डाल देती है।

गोयल और  सूरी ने कहा कि भाजपा शासित निगमों में पार्किग माफिया सक्रिय होने की निगमों को करोड़ो रुपये का नुकसान हो रहा है जबकि उत्तरी निगम की 133 पार्किग स्थलों पर 66 पार्किग को अधिकृत ठेकेदार द्वारा संचालित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा और आप पार्टी के निगम पार्षद लैंटर माफिया के रुप में सक्रिय है और प्रत्येक लैंटर पर इनकी भ्रष्ट फीस तय है, इसके बिना किसी भी गरीब आदमी का मकान नही बन पाता।  सूरी ने बताया मेकेनिकल स्वीपिंग मशीनों को निगम ने 1160 करोड़ में खरीदा था परंतु मुख्य सड़के पीडब्लूडी के पास जाने से यह मशीने बिना कार्यान्वन के खड़ी है। दोनो नेताओं ने कहा कि भाजपा और आम आदमी पार्टी को दिल्लीवासियों से आर्शीवाद नही माफी मांगनी चाहिए क्योंकि भाजपा ने 15 वर्ष और केजरीवाल सरकार ने 7 वर्षों में दिल्ली की जनता किया एक भी वायदा पूरा नही किया।

ताज़ा खबर

इस तरह की और खबरें

TheReports.In ऐप इंस्टॉल करें

X